जीतमल जोन में हुआ तप अभिनन्दन का आयोजन

0
11

मुंबई। मुंबई ज्ञानशाला के तत्वाधान में 30 जुलाई को जीतमल ज़ोन में मुंबई ज्ञानशाला कार्यसमिति सदस्य अंजु जी चौधरी व  राकेश जी चोधरी के सजॉड अट्ठाई  तप के उपलक्ष्य में zoom app पर तप अभिनन्दन कार्यक्रम का आयोजन हुआ। मुंबई के आंचलिक संयोजिका सुमनजी चपलोत ,सह संयोजिका अनिता जी परमार और विभागीय सह संयोजिका संजू जी दुग्गड़  , भिक्षु जोन कि संयोजिका  दिव्या जी कोठारी,  मगवागनी ज़ोन संयोजिका वनीता जी  धाकड़,  कार्यसमिति सदस्य सीमा जी सांखला की विशेष उपस्थिति रही।
नमस्कार महामंत्र के द्वारा सुमन जी ने  तप अनुमोदना के कार्यक्रम की शुरुआत की। मंगलाचरण चेंबुर की प्रशिक्षक तारा जी आछा ने किया। स्वागत  जीतमल ज़ोनसंयोजिका वनिता जी हिरण ने किया व  तपस्वी जोड़े के तप की अनुमोदना की। सुमन जी ,अनिता जी और परामर्शक मधु जी मेहता  समिति सदस्य कामिनी की बड़ाला ने अपने भावों की अभिव्यक्ति देते हुए अंजु जी के सजोड़े अठाई तप की खूब खूब अनुमोदना की और सभी प्रशिक्षकों को तपस्या करने  की प्रेरणा दी व मुंबई ज्ञानशाला की ओर से  वाट्सअप द्वारा तप अभिनन्दन पत्र दिया।
ज़ोन के सभी क्षेत्रके प्रशिक्षक जैसे  चेंबूर से लता जी डूंगरवाल ,ख़ुशबू जी लोढ़ा  गोवंडी- मानखुर्द से  सीमा जी डागलिया, सविता जी सिंघवी और दिव्या जी बाफ़ना, काजुपाडा से  पूनम बाग्रेचा और सरोज चौधरी,  कुर्ला से बसंता जी बाँठिया, सायन से  रेखा जी धाकड़, Mdws से  प्रमिला जी सियाल ने तपस्या की अनुमोदना गीतिका ,मुक्तक आदि से की। मघवागनी ज़ोन से संगीता जी हिंगड,कालूगणी ज़ोन से शांता जी कोठारी, रायचंद ज़ोन से चंद्रा जी पटवारी ने भी अपने तप अनुमोदना  की व सभी ने कहा कि रसना  का त्याग करना  बड़ा कठिन है और काजूपाडा की अंजु जी चौधरी ने इस कोरोनामहामारी के चलते सजोड़े अट्ठाई की तपस्या करके बड़ी हिम्मत का परिचय दिया।
सभी ने स्वेच्छानूसार संकल्प व त्याग  रूपी भेट देकर तप अनुमोदना की। विशेष सहयोगी नयना जी धाकड़ ने  तप अनुमोदना करते हुए सभी का आभार  ज्ञापन किया।मुंबई ज्ञानशाला से भी प्रशिक्षिकाओ ने  भी इस कार्यक्रम मै जुड़कर कर्मो की निर्जरा। कार्यक्रम का  कुशल संचालन ज़ोन सह संयोजिका शिल्पा मेहता ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here