इन चीजों से शरीर को दें मजबूती की खुराक

0
12

विटामिन सी : संतरा, नीबू, अनन्नास और चकोतरा जैसे खट्टे फलों में विटामिन-सी पर्याप्त होता है। विटामिन-सी हर तरह के संक्रमण से लड़ने वाली श्वेत रक्त कोशिकाओं का निर्माण करने में सहायक होता है। इनके सेवन से बनने वाली एंटीबॉडीज कोशिकाओं की सतह पर एक आवरण बना देती हैं, जो शरीर के भीतर वायरस का आना रोक देता है। शहद के साथ आंवला जूस पिएं। रोजाना एक खट्टा फल खाएं।
ब्रोकली : इसमें विटमिन-ए और विटामिन सी, आयरन, कैल्शियम, प्रोटीन के अलावा ग्लूटाथिओन नामक एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है। इसमें प्रोटीन और कैल्शियम भी पर्याप्त होता है।
बादाम: रोजाना बादाम के 8-10 दाने भिगोकर खाएं। दिमाग को तनाव से लड़ने की शक्ति भी मिलती है। इसमें मौजूद विटामिन-ई शरीर में नैचुरल किलर सेल्स को बढ़ाने में मदद करता है, जो विषाणुओं और कैंसरयुक्त कोशिकाओं को नष्ट करने में सहायक हैं। यह बी-टाइप की कोशिकाओं की संख्या बढ़ाने का भी काम करता है। ये कोशिकाएं एंटीबॉडीज का निर्माण करती हैं, जो शरीर में नुकसानदेह बैक्टीरिया को नष्ट करने में सहायक होता है। बादाम त्वचा व हृदय तंत्र दोनों के लिए लाभदायक है।
लहसुन: लहसुन में काफी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं। इसमें एलिसिन नामक तत्व पाया जाता है, जो शरीर को संक्रमण से बचाने में मदद करता है। नियमित सब्जी में या फिर खाली पेट लहसुन की कच्ची कली खा सकते हैं।
पानी व हर्बल टी: शरीर को हाइड्रेटेड यानी नमी युक्त बनाए रखना जरूरी है। इससे शरीर से विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं। पर्याप्त पानी पिएं। तुलसी, अदरक, ब्राह्मी के साथ तैयार हर्बल चाय या काढ़े का सेवन भी रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ाता है। सुबह के समय नींबू पानी से दिन की शुरुआत कर सकते हैं।
दही: दही में शरीर के पाचन तंत्र को मजबूत बनाने वाले प्रोबायोटिक्स होते हैं। दही कैल्शियम का भी अच्छा स्रोत है। इससे शरीर की पोषक तत्वों को ग्रहण करने की क्षमता भी बढ़ती है।
मशरूम: इसमें सेलेनियम, विटमिन-बी, राइबोफ्लेविन और नाइसिन नामक तत्व पाए जाते हैं। मशरूम में एंटीवायरल, एंटीबैक्टीरियल और एंटीट्यूमर तत्व भी मौजूद होते हैं।
हल्दी: हल्दी का नियमित सेवन शरीर को फंगस, जीवाणु और विषाणुओं से होने वाले संक्रमण से बचाता है। सर्दियों में कच्ची हल्दी का पेय बनाकर पीना अच्छा रहता है।
काली मिर्च: काली मिर्च, ठंड से बचाव करने में प्रभावी ढंग से काम करती है। इसमें भी एंटीवायरल, एंटीबैक्टीरियल तत्व और बुखार कम करने की क्षमता होती है।
पालक: इसमें फोलेट होता है, जो नई कोशिकाएं बनाता है। इसमें मौजूद फाइबर, आयरन, एंटी ऑक्सीडेंट और विटामिन-सी शरीर को हर तरह से स्वस्थ रखते हैं।
ओट्स: ओट्स में पर्याप्त मात्रा में फाइबर होता है, जो आंतों की सफाई रखने में सहायक होता है। बीटा-ग्लूकॉन नामक तत्व की मौजूदगी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करती है। इससे शरीर में विषैले तत्व जमा नहीं होते।
विटामिन डी: विटामिन डी शरीर की पोषक तत्वों को ग्रहण करने की क्षमता बढ़ाता है। दिल और हड्डी संबंधी रोग दूर रखने में मदद करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)