चुनावी घोषणा से पहले नेताओं के स्तर गिरने की शुरुआत

0
35

रविवार को चुनाव आयोग ने 2019 लोकसभा चुनावों की घोषणा कर दी। इससे पहले ही नेताओं के स्तर की गिरावट उत्तर प्रदेश से शुरू हो चुकी थी। हालांकि नेताओं का स्तर गिरना वर्षों पहले ही शुरू हो गया था, लेकिन पिछले दिनों उत्तर प्रदेश में इसमें नई गिरावट देखने को मिली, जब भाजपा के एक सांसद सिर्फ पत्थर पर नाम न होने के कारण इतना भन्ना गए कि उन्होंने अपनी ही पार्टी के एक विधायक को जूतों से लगभग 7 जूते मारा, वह भी एसपी ऑफिस में मंत्री और डीएम के सामने। बदले में विधायक जी ने भी शायद 2 तमाचा सांसद जी को जड़े, लेकिन उनके चेहरे पर वह संतुष्टि नहीं थी, जो सांसद जी को मिली थी। फिलहाल मामले में क्या डेवलोपमेन्ट है यह तो नहीं पता, लेकिन एक बात तो तय है, तमाम समझौतों के बाद भी विधायक जी उन्हें हराने के प्रयासों में कोई कोर कसर नहीं छोड़ने वाले।
उत्तर प्रदेश बाहुबलियों का प्रदेश है। यहां तो विधानसभा में पहले भी माइक चल चुके हैं लेकिन जूते पहली बार चले। हालांकि जुबानी स्तर भी अभी गिरेंगे। याद कीजिये, श्मशान, कब्रिस्तान, पार्टी गयी तेल लेने आदि आदि..! यह बात हुई रही यूपी की लेकिन पूरा देश अभी बाकी है। बयान वीर दिग्गजों ने तो अभी कमान संभाली भी नहीं है। फिलवक्त प्रधानमंत्री मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, अमित शाह जैसे कुछ लोगों ने ही प्रचार अभियान शुरू किया था। अब सारी पार्टियों के लोग मैदान में उतरेंगे और अपने-अपने स्तर का प्रदर्शन करेंगे। वैसे हम रोज आपको ऐसे कुछ गॉसिप टाइप ममलों से अवगत कराते रहेंगे, वह भी मिर्च-मसाले के साथ। उम्मीद है आप लोगों को पसंद आएगा। तो चाहूंगा, देश दुनिया की खबरों को पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट – www.surabhisaloni.com देखते रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)