भदोही : ‘पब्लिक एड्रेस सिस्टम’ से सूचना तकनीक का मॉडल बना यह गांव

योगी सरकार में ग्राम्य स्वराज की संकल्पना को कर रहा साकार

– जनपद का पहला पब्लिक एड्रेस सिस्टम महजूदा गांव में हुआ स्थापित

भदोही । सूचना तकनीकी के प्रयोग से जहाँ ग्राम स्वराज की संकल्पना को नया आयाम मिल रहा है। वहीं दूसरी तरफ गांव को आधुनिक मॉडल बनाने एक और क्रांति का इजाद हुआ है। भदोही जनपद का महाजूदा गांव पहला ऐसा गांव है जहां पब्लिक एड्रेस सिस्टम स्थापित किया गया है। राज्य की योगी सरकार में आधुनिक सूचना तकनीक का प्रयोग कराने वाला यह अनूठा गांव है।
महात्मा गांधी और योगी सरकार के ग्राम स्वराज की विकास परियोजनाओं को अच्छे ढंग से महाजूदा गांव में लागू किया गया है। पत्रकार से प्रधान बने राजमणि पांडेय राज गांव को नई दिशा और दशा दे रहे हैं। विकास को लेकर गांव की सोच बदल रहे हैं। संकुल भवन, पंचायत भवन और गांव में पब्लिक ऐडस सिस्टम को स्थापित कर उन्होंने यह साबित करने की कोशिश की है कि नेक इरादा और संकल्प शक्ति से कोई कार्य असंभव नहीं है। युवा जिलाधिकारी गौरांग राठी उनके विकास कार्यों की खूब प्रशंसा कर चुके हैं। जनपद के दूसरे पंचायतों और ग्राम प्रधानों को सीखने की सलाह दी है। जिलाधिकारी राठी ने हाल में गांव में 32 लाख की विकास परियोजनाओं का लोकार्पण किया है।
युवा ग्रामप्रधान राजमणि पांडेय राज ने से बातचीत के दौरान बताया कि भदोही जनपद का पहला ‘पब्लिक एड्रेस सिस्टम’ हमने गांव में स्थापित किया है। उन्होंने बताया इस आधुनिक सिस्टम के जरिए गांव में पुरानी मुनादी व्यवस्था से जहाँ निजात मिली है। वहीं दूसरी तरफ इस व्यवस्था से हर व्यक्ति तक आसानी से जरुरी सूचना पहुंच जाती है। पंचायत की खुली मीटिंग करवानी पड़ती है तो हम सीधे ‘पब्लिक एड्रेस सिस्टम’ से गांव वालों को सूचना देते हैं। राशन लेने के लिए भी हम सूचित करते हैं कि संबंधित तारीख को राशन वितरण होगा ग्राम पंचायत के लोग आकर अपना राशन ले जाते हैं। बच्चों के टीकाकरण और अन्य कार्यों के लिए भी इस सिस्टम का उपयोग करते हैं। गांव में किसी महत्वपूर्ण सरकारी सूचना के ऐलान के लिए भी हम पब्लिक ऐडस सिस्टम का उपयोग करते हैं। प्रात:काल पब्लिक एड्रेस से हनुमान चालीसा का पाठ चलता है।
ग्रामप्रधान राजमणि पांडेय ने बताया कि पूरे गांव में अट्ठारह ध्वनि विस्तारक यंत्रों का उपयोग किया गया है। इसके लिए अट्ठारह सौ मीटर वायर का भी उपयोग किया गया है। गांव में पब्लिक एड्रेस सिस्टम स्थापित होने से गांव वालों को भी काफी सहूलियत है। गांव में किसी भी प्रकार की सूचना आसानी से प्रसारित होती है। एक घटना बताते हुए उन्होंने कहा कि एक बार एक बच्चा खो गया और परिजन बहुत परेशान थे। बाद में पब्लिक एड्रेस सिस्टम से संबोधित किया गया और बच्चा तुरंत मिल गया। आधुनिक सूचना क्रांति का पब्लिक एड्रेस सिस्टम सबसे बेहतरीन उदाहरण है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *