स्वास्थ्य जीवन के लिए केगंन वाटर बहुत जरूरी, फार्मासिस्ट मनोज राव

बस्ती (उत्तर प्रदेश):-भारत में 2016 से केंजेन वाटर मशीन लाॅन्च हुई है। जिसे जापान की एक कंपनी ने 48 साल पहले बनाया है। इस मशीन को अब बस्ती जिले में मनोज राव ने अपने आफिस में लगाई है। शुक्रवार को हमारी टीम को केंजेन वाटर मशीन से पानी निकालकर डैमो भी दिखाया।

दीवानी कचहरी के पीछे, सैंट बेसिल चर्च दिशा भवन रोड आनंद नगर कटरा बाईपास में स्थित रायल केगेंन वाटर ऑफिस पर इसका डेमो हुआ। जिसमें बताया गया कि इस मशीन के जरिए निकले पानी को पीने से जल्दी बुढ़ापा नहीं आता और भी कई तरह के फायदे होते हैं। ये उत्सुकता के साथ लोगो ने डेमो देखा। डेमो देते हुए मनोज राव ने कहा जापान की इस कंपनी ने इस मशीन को बनाने से पहले विश्व के कई स्थानों के पानी का सर्वे किया था। जिसमें भारत में गंगा नदी के उद्गम स्थल, श्रीनगर सहित अन्य जगहों के पानी को भी लिया गया। सर्वे कर देखा गया कि यहां का पानी कितना प्रभावकारी है और क्यों है? इसके आधार पर ही ये मशीन तैयार की गई।

बीमारियों के रोकथाम में इस तरह करती है मदद यह वाटर मशीन

केंजेन पानी एल्कलाइन (क्षारीय) होता हैं। जो हमारे शरीर में एसिडिटी के स्तर को नियंत्रित करता हैं। हमारे पाचन क्रिया को बेहतर बनाता हैं। शरीर में कैंसर, कोलेस्ट्रॉल आदि गंभीर बीमारियों के होने की आशंका को बहुत ही कम कर देता हैं। जापान में इस मशीन को पीने के पानी के लिहाज से उपयुक्त मानते हैं।

क्या हैं केंजेन वाटर

ये एक ऐसी मशीन हैं जो वाटर को फिल्टर करने का काम करती हैं और उस पानी को केंजेन वाटर कहा जाता हैं। केंजेन एक जापानी शब्द हैं जिसका मतलब अपने पुराने रूप से वापस आना है। इस मशीन से प्राप्त पानी में एंटी ओक्सिडेंट, एल्कलाइन और माइक्रो क्लस्टर्स का गुण होता है। जर्नलिस्ट अनिल राठौर के अनुसार इन्ही तीन चीजों के कारण ही ये पानी शरीर को स्वस्थ रखने व उम्र को बढ़ने से रोकने का काम करता है।

केंजेन वाटर मशीन से निकलता है प्रति मिनट 6 लीटर शुद्ध पानी

मुख्य रूप से यह मशीन चार अलग-अलग रेंज में। हर मशीन की अपनी अलग क्षमता है। इनमे कोई मशीन 6 लीटर पानी प्रति मिनट और कोई मशीन 3 लीटर प्रति मिनट पानी फिल्टर करती हैं। मशीन में लगा प्लेटिनम और टाइटेनियम प्लेट ही मुख्य पार्ट होता है। जो पानी को फिल्टर कर देता है।

जवान भी दिखते हैं

मनोज राव ने बताया मनुष्य का शरीर अपने नियमित दिनचर्या के अनुसार फास्ट फूड सॉफ्ट ड्रिंक एल्कोहल समोसे चटपटी चीजें खाने से +ORP (ऑक्सीडेशन रिडक्शन पोटेंशियल) ग्रहण करता है। ये +ORP हमें शरीर में नए टिश्यू का निर्माण करने में बाधक बनते हैं। वहीं दूसरी तरफ -ORP(कंगन वाटर, ग्रीन टी, विटामिन सी) नए टिश्यू बनने में मदद करता है। आसान शब्दों में कहा जाए तो यह मनुष्य की बूढ़ा होने की प्रक्रिया को धीरे करती है। सामान्य भोजन और जूस में -100 ओआरपी होते हैं। परन्तु केंजेन वाटर में – 400 ओआरपी होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *