आध्यात्मिक मिलनः साध्वीश्री डॉ मंगलप्रज्ञाजी एवं साध्वीश्री हर्षितप्रज्ञाजी का हुआ मिलन

रामापुरम (तमिलनाडु)। आचार्य श्री महाश्रमणजी की सुशिष्या साध्वीश्री डॉ मंगलप्रज्ञाजी ठाणा 6 साहुकारपेट, चेन्नई का चातुर्मास सम्पन्न कर आंध्रप्रदेश की ओर विहाररत है।
गुरुवार को साध्वीश्रीजी सुविधिनाथ जिनालय जैन भवन, रामापुरम पधारे। वहां पर मूर्तिपूजक सम्प्रदाय के आचार्य श्री नित्यानंदजी महाराज की सुशिष्या साध्वीश्री हर्षितप्रज्ञाजी और दर्शनप्रज्ञाजी से आध्यात्मिक मिलन हुआ। साध्वीश्री हर्षितप्रज्ञाजी और दर्शनप्रज्ञाजी ने जैन भवन में पधारने पर अगवानी कर आपका स्वागत किया। दोनों ओर से एक दूसरे को सुखसाता पुछ, अभिवादन हुआ।  दोनों और से भगवान महावीर एवं जैन सिद्धांतों के समंवय, अनेकांत की चर्चा की। कहा गया कि हमारे साधना की क्रियाएं अलग अलग है, लेकिन हम सभी का लक्ष्य एक ही है, भगवान महावीर के आदर्शों पर चल कर वितरागता का वरन करना।
इस विहार यात्रा में तेरापंथ सभा अध्यक्ष श्री उगमराज सांड, विहार सेवा प्रभारी गणपतराज डागा, श्री सुरेश रांका, गजेन्द्र खांटेड़ इत्यादि के साथ अनेकों तेरापंथ सभा, महिला मण्डल, युवक परिषद् के श्रावक-श्राविकाएं अपना दायित्व निर्वहन कर रहे हैं।  साध्वीवृन्द आगामी रविवार को श्री शंखेश्वर पार्श्र्वनाथ जैन नवग्रह 72 जिनालय तीर्थ, तडा में प्रवास रहेगा।
समाचार सम्प्रेषक : स्वरूप चन्द दाँती

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *