ऑस्ट्रेलिया की स्पिन बॉलिंग का हो रहा पतन:शेन वॉर्न

0
9

नई दिल्ली:ऑस्ट्रेलिया के महान गेंदबाज शेन वॉर्न का मानना है कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को हर प्रथम श्रेणी मैच में स्पिनर को उतारना चाहिए ताकि देश में स्पिन गेंदबाजी का स्तर बेहतर हो सके जो इस समय तेजी से नीचे गिर रहा है। वॉर्न ने ‘द वेस्ट ऑस्ट्रेलियन’ से कहा कि स्पिनर को हर मैच खेलना चाहिए, चाहे हालात कैसे भी हो। ऐसा इसलिए ताकि स्पिनर समझ सके कि पहले या चौथे दिन कैसी गेंद डालनी है। इस समय हालात अनुकूल होने पर ही प्रांतीय टीमें उन्हें चुनती हैं।

‘नाथन लियोन की जगह लेने के लिए स्पिनरों की कमी’
उन्होंने कहा कि अगर वे प्रांतीय स्तर पर नहीं खेलेंगे तो सीखेंगे कैसे। प्रदेश की टीमों को हर मैच में एक विशेषज्ञ स्पिनर रखना चाहिए। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को इसमें प्रयास करने होंगे। वॉर्न ने कहा कि नाथन लियोन की जगह लेने के लिए प्रतिभाशाली स्पिनरों की कमी है। उन्होंने कहा कि ड्रॉप इन पिचों से स्पिनरों का विकास नहीं हो पा रहा है। उन्होंने कहा कि एक समय में हर प्रदेश में हालात अलग होते हैं लेकिन अब कृत्रिम पिचों का इस्तेमाल हो रहा है। इनके अधिक इस्तेमाल से हमें बचना होगा।

शेन वॉर्न ने बताई गेंद को स्विंग कराने तरकीब
शेन वॉर्न ने इससे पहले कोरोना वायरस महामारी के बाद क्रिकेट खेलते समय गेंद को स्विंग कराने के लिए लार के उपयोग या कृत्रिम पदार्थ के इस्तेमाल को लेकर चल रही बहस के बीच  सुझाव दिया है कि गेंद को एक तरफ से भारी रखें ताकि चमक की जरूरत ही नहीं रहे। वॉर्न का मानना है कि इससे तेज गेंदबाजों को सपाट विकेटों पर भी स्विंग लेने में मदद मिलेगी। उन्होंने ‘स्काई स्पोटर्स’ के क्रिकेट पॉडकास्ट में कहा था कि गेंद को एक तरफ से भारी क्यों नहीं बनाया जा सकता ताकि ये हमेशा स्विंग ले। यह एक टेप लगाई हुई टेनिस गेंद या लॉन बॉल की तरह रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here