शाहीनबाग प्रोटेस्टर्स ने प्रदर्शन की जगह खाली कराने के विरोध में सुप्रीम कोर्ट को लिखा पत्र

0
16

नई दिल्ली:शाहीनबाग में प्रदर्शन वाली जगह खाली कराने के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने सुप्रीम कोर्ट को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने प्रदर्शनकारियों को जबरन हटाने की दिल्ली पुलिस की कार्रवाई पर आपत्ति जताई है और मामले के जांच की मांग की है। उन्होंने नागरिक अधिकारों का हवाला देकर सुप्रीम कोर्ट से इस मामले में हस्तक्षेप की मांग की है।

शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों ने सुप्रीम कोर्ट को लिखा पत्र
शाहीन बाग में नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ 15 दिसंबर से प्रदर्शन चल रहा था, जिसे 24 मार्च को पुलिस ने हटा दिया। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लॉकडाउन के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने ये कार्रवाई की थी। पुलिस ने दिल्ली और नोएडा को जोड़ने वाली सड़क पर लगे टेंट को भी हटा दिया था। बावजूद इसके मंगलवार को महिलाएं फिर से जुटने लगी थीं, हालांकि, पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को वहां से हटा दिया और टेंट भी उखाड़ दिया।

दिल्ली पुलिस की कार्रवाई पर जताई आपत्ति
दिल्ली पुलिस की इस कार्रवाई पर आपत्ति जताते हुए बुधवार को शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने सुप्रीम कोर्ट को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने 24 मार्च को शाहीन बाग में प्रदर्शनकारियों को जबरन हटाए जाने के मामले की जांच की मांग की है। नागरिक अधिकारों का हवाला देकर प्रदर्शनकारियों ने सुप्रीम कोर्ट से इस मामले में हस्तक्षेप की मांग की है।

लॉकडाउन के मद्देनजर पुलिस ने की थी कार्रवाई
इससे पहले दिल्ली पुलिस ने शाहीन बाग में धरने वाली जगह पर लगे टेंट को पूरी तरह हटा दिया। कोरोना वायरस के मद्देनजर दिल्ली में धारा 144 लागू है। इसके बावजूद वहां कुछ प्रदर्शनकारी जुटे हुए थे। पुलिस की ओर से बताया गया कि सुबह भी काफी महिलाएं धरने पर बैठी हुईं थी। हमने उनसे कहा था कि 144 लगाई गई है, इसलिए धरने को खत्म कर दें, लेकिन वह नहीं माने। इसके बाद पुलिस को बलपूर्वक उनको हटाना पड़ा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here