साध्वी आणिमाश्रीजी आदि साध्वीवृन्द का कर्नाटक प्रवेश

0
62

कगनोली (कर्नाटक)। गुरु दर्शन के लिए विहाररत साध्वी श्री आणिमाश्रीजी एवं साध्वी श्री मंगलप्रज्ञाजी ठाणा 6 का महाराष्ट्र से कर्नाटक प्रवेश हर्षोत्फुल वातावरण में सुखद एवं शुभ भावों के साथ हुआ। इस अवसर पर कोल्हापुर, ठाणा, कांदिवली, बेलगाम, इचलकरंजी के श्रावक- श्राविकाएं अच्छी संख्या में उपस्थित थे।
साध्वी आणिमाश्रीजी ने अपने प्रेरक उद्बोधन में कहा कृपा निधान पूज्यप्रवर ने हमें महती कृपा कर गुरु दर्शनों का आदेश बरसाया। ठाणा से विहार कर हम लगभग पौने दो महीनों तक महाराष्ट्र में विहार करते रहे, आज हमारा कर्नाटक प्रवेश हो गया है। अब तो ऐसा लग रहा है बहुत जल्द गुरु दर्शनों के लिए प्यासी अंखिया गुरु दर्शन कर तृप्ति की अनुभूति करेगी।
हमारा धर्मसंघ जयवंता है। सिर्फ साधु साध्वियां ही नही श्रावक-श्राविकाएं भी गुरु आज्ञा पर शीश धरते है। हमारा विनीत श्रावक समाज दायित्त्व के प्रति सजग है। तेयुप सभा, महिला मंडल ने विहार में अपने कर्तव्य का निर्वहन किया है। महाराष्ट्र से ठाणा सिटी, कोपरी, वागले एस्टेट, ठाणे सेंट्रल, विलेपार्ले, कांदिवली, कालबादेवी, मलाड, बांद्रा, सांताक्रुज, बोरीवली, मीरारोड, कुर्ला, पूना, जयसिंगपुर, इचलकरंजी, कोल्हापुर के श्रावक-श्राविकाओं व युवा साथियों ने अच्छी सेवा की है। और अब बेलगाम कर्नाटक के भाई बहन भी सेवा में आ गए है। सबकी संघ भक्ति, गुरु भक्ति बढ़ती रहे। हम अतिशीघ्र नंदनवन में पहुंचकर गुरु सेवा का मेवा प्राप्त करे, यही हार्दिक तमन्ना है।
साध्वी मंगलप्रज्ञा ने कहा आज हमारा कर्नाटक प्रवेश हमारे भीतर नए उत्साह का संचार कर रहा है। अब हम अपने लक्ष्य के नजदीक पंहुच रहे है। हुबली में गुरु दर्शन कर धन्य-धन्य हो जाएंगे। विहार में युवा साथियों एवं महिलाओं की अच्छी उपस्थिति रही। सबकी श्रद्धा भक्ति को देखकर मन बाग-बाग हो रहा है। साध्वी कर्णिकाश्रीजी, साध्वी सुधाप्रभाजी, साध्वी समत्वयशाजी, साध्वी मैत्रीप्रभाजी ने अपने विचार रखे।
कोल्हापुर सभाध्यक्ष उत्तमचन्द पगारिया, वागले एस्टेट तेयुप मंत्री दीपेश मोटावत, इचलकरंजी सभा के मंत्री श्री पुष्पराज जी संकलेचा, बेलगाम सभा के मंत्री महेंद्र चोपड़ा, श्वेता पगारिया, जवेरचन्द भंसाली, सरिता ढ़ेलडिया, महेंद्र ढ़ेलडिया, विकास सुराणा, डिम्पल भंसाली, धर्मेंद्र कांकरिया ने शुभ भावों की प्रस्तुति दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here