इंटरव्यूः मुद्दों के लिए जूझता सेवादल का एक सिपाही

0
32

30 साल से कांग्रेस में सक्रिय लड़ाईयां निडर होकर लड़ते आ रहे हैं एच.के. विश्वकर्मा
मुम्बई। कांग्रेस सेवादल भले ही खबरों में न रहे या उसके कार्यकर्ता नजर ना आते हों, लेकिन उसके सिपाही हमेशा अपने दायित्वों को लेकर प्रतिबद्ध रहते हैं और उन्हें जो लड़ाई लड़़नी है, उसे वे अनवरत जारी रखते हैं। कहने का मतलब सेवादल के लोग भले ही लाइम लाइट में ना आते हों, लेकिन उनका जज्बा आज भी देखने लायक होता है। पिछले दिनों सेवादल के एक कार्यकर्ता एच.के. विश्वकर्मा से मुंबई कांग्रेस के दफ्तर में मुलाकात हुई और उनकी कार्यप्रणाली को जाना तो मुझे भी उनकी सक्रियता को लेकर आश्चर्य हुआ। एच.के. विश्वकर्मा प्रियंका गांधी के साथ उत्तर प्रदेश में जो हुआ उसे लेकर इतना क्षुब्ध हुए कि उन्होंने मुंबई के किदवई रोड पुलिस स्टेशन में प्रियंका गांधी के साथ कथित बदसलूकी को लेकर मामला दर्ज करवा दिया और मांग की कि इस बदसलूकी पर पुलिस को कार्रवाई करनी चाहिए।
एचके विश्वकर्मा पिछले 30 वर्षों से कांग्रेस में रहकर विभिन्न पदों पर कार्य करते हुए वर्तमान में कांग्रेस सेवादल मुंबई के महामंत्री के रूप रूप में एक सिपाही की तरह काम कर रहे हैं। मुंबई के शिवड़ी में रहने वाले एच.के. विश्वकर्मा वैसे तो उत्तर प्रदेश में भदोही में जन्मे व पले-बढ़े हैं हैं लेकिन इतने वर्षों से मुंबई में घर, व्यवसाय, परिवार के साथ यहां की राजनीति में भी पूरी तरह से सक्रिय हैं। कुल मिलाकर अब वे पूरी तरह से मुंबईकर हो चुके हैं। कई बार उन्होंने शिवड़ी क्षेत्र से विधानसभा टिकट मांगा, लेकिन नहीं मिला। बावजूद कांग्रेस पार्टी के प्रति उनकी निष्ठा में कोई कमी नहीं आई। वे कहते हैं कि मैं इतने दिनों से पार्टी के लिए समर्पित भाव से काम कर रहा हूं, तो टिकट मांगना मेरा अधिकार है। टिकट देना या ना देना पार्टी का अधिकार क्षेत्र है, लेकिन मैं पार्टी को लेकर अपनी निष्ठा में बिल्कुल कमी नहीं आने दूंगा।
एच.के. विश्वकर्मा सिर्फ राजनीति और व्यवसाय तक की खुद को सीमित नहीं रखते बल्कि सामाजिक व स्थानीय मुद्दों को लेकर भी उनका संघर्ष जारी है, जिसका उदाहरण है बिल्डिंग के काम और रोड के कारण बच्चों के खेलने की जगह खत्म हो गई, जिसे लेकर वे मुख्यमंत्री तक को पत्र लिख चुके हैं कि किस तरह से नियमों को ताक पर रखकर बिल्डिंग का निर्माण कार्य किया जा रहा है। वे चाहते हैं कि उक्त स्थान पर गार्डन के लिए जगह छोड़ा जाए। कुल मिलाकर विश्वकर्मा जी की उम्र 50 वर्ष से अधिक होने के बावजूद भी उनका जज्बा आज भी युवा नेताओं जैसा ही है।
बताते चलें कि एच.के. विश्वकर्मा कांग्रेस में 30 वर्षों से सक्रिय रहने के दौरान एक्टिव मेंबर से अपनी राजनीतिक यात्रा की शुरुआत करते हुए विभिन्न 9 साल यूथ कांग्रेस और सेवादल के विभिन्न पदों से कार्य करते हुए इस समय मुंबई कांग्रेस सेवादल के महामंत्री के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)