इमरान से मुलाकात में जिनपिंग बोले- पाक से दोस्ती अटूट और उसके हितों का समर्थन करेंगे, कश्मीर पर हमारी नजर

0
11

बीजिंग: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान चीन दौरे पर हैं। बीजिंग में इमरान की मुलाकात चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से हुई। जिनपिंग ने इस मीटिंग में कहा कि कश्मीर पर हमारी लगातार नजर है और चीन पाकिस्तान के मूल हितों से जुड़े मुद्दों पर उसका समर्थन करेगा।

चीन की न्यूज एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक, जिनपिंग ने कहा- कश्मीर के हालात में सही और गलत क्या है, यह साफ हो चुका है। दोनों ही पक्षों को शांतिपूर्ण वार्ता के जरिए यह मसला सुलझाना चाहिए।

जिनपिंग ने कहा- चीन और पाकिस्तान की दोस्ती अटूट
इमरान से मुलाकात में जिनपिंग ने कहा- चीन और पािकस्तान की दोस्ती का रिश्ता पत्थर जैसे मजबूत और अटूट है। इससे फर्क नहीं पड़ता कि क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्थितियों में क्या बदलाव हो रहे हैं। हम चीन-पाकिस्तान के साझा भविष्य को नए युग में ले जाने के लिए मिलकर काम करते रहेंगे। हमारे रिश्तों में हमेशा उत्साह बरकरार रहेगा।

मोदी-जिनपिंग की मुलाकात से पहले चीन ने कश्मीर पर स्टैंड बदला
मोदी-जिनपिंग में भारत में होने वाली मुलाकात से पहले चीन ने कश्मीर पर अपना स्टैंड बदल लिया है। चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा- इस मसले को द्विपक्षीय तरीके से हल किया जाना चाहिए। इससे पहले चीन ने इस मसले में संयुक्त राष्ट्र और उसकी सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव के मुताबिक मुद्दे को हल किए जाने की बात की थी। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा- पिछले साल वुहान में हुए अनौपचारिक सम्मेलन के बाद से हमारे द्विपक्षीय रिश्तों को एक अच्छी गति प्राप्त हुई है। हमने अपने आपसी मतभेदों को सुलझाते हुए सहयोग को बढ़ावा दिया है और हम अपनी द्विपक्षीय बातचीत को अगले चरण तक ले जा रहे हैं। हम इसके लिए अच्छा वातावरण बना रहे हैं।

मोदी और जिनपिंग के बीच 11 अक्टूबर को मुलाकात
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ दूसरी अनौपचारिक बैठक के लिए चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग शुक्रवार को भारत आएंगे। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, तमिलनाडु के महाबलीपुरम में 11 और 12 अक्टूबर को दोनों नेताओं की मुलाकात होगी। इस दौरान कोई समझौता और एमओयू पर हस्ताक्षर नहीं होंगे, लेकिन मोदी-जिनपिंग की ओर से साझा बयान जारी हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)