भूख बढ़ाता है गरम मसाला, इन फायदों के बारे में नहीं जानते होंगे आप

0
11

गरम मसाला हर भारतीय किचन का अभिन्न अंग है। स्वादिष्ट होने के साथ ही यह आपकी सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। विशेषज्ञों का कहना है कि चूंकि इसमें कई साले मसालों का इस्तेमाल किया जाता है इसलिए इसमें उन सभी के गुण भी शामिल होते हैं। गरम मसाला बनाने की कोई एक तय विधि नहीं है। हर कोई अपनी-अपनी जरूरतों के अनुसार अपने तरीके से इसे तैयार करता है। अपनी सुविधा व स्वाद के मुताबिक अलग-अलग व्यंजनों को स्वादिष्ट बनाने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।
गरम मसाला भारत के पारंपरिक मसालों का एक बेहतरीन मेल है, जो शाकाहारी और मांसाहारी दोनों ही तरह के व्यंजनों में इस्तेमाल किया जाता है। लौंग, दालचीनी, जीरा, जयफल, काली मिर्च, इलायची और तेजपत्ता ये कुछ मसाले हैं जो अमूमन सब लोग गरम मसाला बनाने के लिए इन्ग्रीडिएंट के रूप में इस्तेमाल करते हैं।
गरम मसाला आपकी भूख बढ़ाता है और पेट में अमाशय रस को बढ़ाकर पाचन क्रिया को भी बेहतर करता है। लौंग और जीरा अपच दूर करते हैं। लौंग एसिडिटी को भी काबू रखने में मदद करती है। गरम मसाला पेट फूलने की समस्या, सूजन और जी मिचलाने की समस्या से भी लड़ने में आपकी मदद करते हैं।
गरम मसाला में फाइटोन्‍यूट्रीएंटस होता है, जो मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाती है। खासतौर पर काली मिर्च इस काम के लिए बेहद कारगर होती है। इसके अलावा गरम मसाले में बहुत सारे मिनरल भी होते हैं।
गरम मसाले में मौजूद लौंग और इलायची सांसों की बदबू से लड़ने में मददगार होती है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होता है। इसके इस्तेमाल से त्वचा की परेशानियां आपसे कोसों दूर रहती हैं।
गरम मसाला रेसिपी : 2 ग्राम फूलचक्री, 6 ग्राम बड़ी इलाईची, 3 ग्राम काली मिर्च, 7 ग्राम दालचीनी, 6 ग्राम लौंग, 4 ग्राम छोटी इलाईची, 1 ग्राम जावित्री, 20 ग्राम धनिया, 17 ग्राम जीरा, 2 ग्राम पिसा जयफल, 3 ग्राम नमक।
फ्राइंग पैन को मध्यम आंच में गर्म करके सारे साम्रगी को धीरे-धीरे भूनें। इलाईची को थोड़े देर तक रखें, जबकि नमक को गर्म न करें। सभी मसाले के छिलके गाढ़े रंग के होने तक भूने। धीरे-धीरे चलाजे रहें। मसाला भूनने में जल्दबाजी न करें और न ही गैस की आंच को बढ़ायें, जिससे ताकि मसाले बाहर से जल जाएं और भीतर कच्चे रह जाएं। भुने हुए मसालों को ठंडा होने दें। ठंडे हो चुके मसालों में से इलाईची को छिलकर दाने निकाल लें। भुने हुए सभी मसालों को एक साथ पीस कर पाउडर बना लें। इन्हें एयर टाइट कंटेनर में बंद कर ठंडी, अंधेरी जगह में रखें।
(इस आलेख में दी गई जानकारियों को अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)