जन्मदिन पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने की घोषणा, लोकसभा विधानसभा चुनावों में किसी भी पार्टी से गठबंधन नहीं

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने अपने जन्मदिन के मौके यानि 15 जनवरी को घोषणा की कि उनकी पार्टी आगामी राज्य विधानसभाओं और अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों में किसी भी पार्टी के साथ गठबंधन नहीं करेगी और बसपा अपने दम पर चुनाव लड़ेगी। सुश्री मायावती ने अपने 67वें जन्मदिन के मौके पर संवाददाताओं से बात करते हुए ने कहा, ‘बसपा के बारे में एक बात जरूर बताना चाहती हूं कि पूंजीपतियों के धनबल और उनकी मनमानी से दूर रहकर पार्टी मेहनती लोग और बहुजन समाज के लोगों और बहुजन समाज के लोगों के कल्याण के प्रति समर्पित है।”
इस मौके पर उन्होंने ‘ए ट्रैवलॉग ऑफ माई स्ट्रगल-राइडेड लाइफ एंड बीएसपी मूवमेंट’ का 18वां खंड जारी किया। उनके जन्मदिन को पार्टी कार्यकर्ताओं ने पूरे उत्तर प्रदेश में जन कल्याण दिवस के रूप में मनाया। उन्होंने कहा, “बसपा का मुख्य उद्देश्य अनुसूचित जाति एवं जनजाति (एससी- एसटी), अन्य पिछड़ा वर्ग (ओसीबी) मुस्लिम और अन्य सहित बहुजन समाज के भाईचारे पर आधारित गठबंधन के बल पर चुनाव जीतना और उनकी सामाजिक-आर्थिक स्थिति में सुधार करना है।”
बसपा सुप्रीमो ने कहा, “मैं इस सिद्धांत की कड़ाई से पालन करते हुए स्पष्ट करना चाहूंगी कि कर्नाटक, राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ या किसी अन्य राज्य में 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव या यहां तक कि लोकसभा चुनाव में भी बसपा किसी भी पार्टी के साथ कोई गठबंधन नहीं करेगी। इसके बजाय यह अपने दम पर चुनाव लड़ेगी।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *