गौतम गंभीर को भारत के लिए काफी मैचों में कप्तानी करनी चाहिए थी:इरफान पठान

0
10

नई दिल्ली:टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने अपने दम पर टीम को कई मैचों में जीत दिलाई है। गंभीर बड़े मैच के खिलाड़ी रहे हैं और मुश्किल परिस्थितियों में भी टिककर खेलना जानते थे। वो दो बार वर्ल्ड कप फाइनल में शानदार पारियां खेलकर भारत को ट्रॉफी जिताने में अहम भूमिका निभा चुके हैं। 2007 टी20 वर्ल्ड कप फाइनल में गंभीर ने 75 और 2011 वर्ल्ड कप में 97 रनों की पारी खेल चुके हैं। टीम इंडिया के पूर्व ऑल-राउंडर इरफान पठान का मानना है कि गंभीर को ज्यादा मैचों में भारत की कप्तानी करनी चाहिए थी।

गंभीर की कप्तानी में भारत ने छह वनडे इंटरनैशनल मैच जीते हैं, जिसमें न्यूजीलैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज में 5-0 का क्लीनस्वीप भी शामिल है। इसके अलावा गंभीर की कप्तानी में कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) ने दो बार इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) खिताब जीता है। 2011 में गंभीर केकेआर के कप्तान बने और 2012 और 2014 सीजन में टीम ने खिताब अपने नाम किया। इरफान ने गंभीर की कप्तानी की जमकर तारीफ की है। इरफान ने कहा, ‘सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और अनिल कुंबले की कप्तानी की मैं बहुत रिस्पेक्ट करता हूं, लेकिन मुझे लगता है कि गंभीर ने जितने मैचों में भारत की कप्तानी की, उससे ज्यादा मैचों में उन्हें कप्तानी करनी चाहिए थी।’

इरफान ने कहा, ‘मुझे लगता है कि वो बहुत अच्छे कप्तान साबित होते। मैं विराट कोहली और रोहित शर्मा को एडमायर करता हूं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि मैं धोनी की क्वॉलिटी को एडमायर नहीं करता।’ इरफान ने राहुल द्रविड़ की कप्तानी की भी तारीफ की। उन्होंने कहा, ‘लोग राहुल द्रविड़ की कप्तानी के बारे में ज्यादा बात नहीं करते। जो लोग उनके बारे में ज्यादा बात नहीं करते क्या वो ऐसा है कि वो उन्हें पसंद नहीं करते?’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here