नागरिक उड्‌डयन मंत्री बोले- हालात बेहतर रहे तो जून-जुलाई तक अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू कर सकते हैं; पहले अगस्त-सितंबर की बात कही थी

0
2003

नई दिल्ली:नागरिक उड्‌डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी शनिवार को अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर लाइव हुए। इस दौरान उन्होंने लोगों के सवालों का जवाब दिया। एक सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि अगस्त-सितंबर से पहले हम इंटरनेशनल फ्लाइट्स सेवाएं शुरू कर सकते हैं। फ्लाइट शुरू करने से पहले कोरोना के हालात का आकलन किया जाएगा।

हालांकि, इस बयान कुछ ही देर बाद उड्डयन मंत्री ने एक और बयान दिया। कहा- अगस्त-सितंबर तक इंतजार क्यों करना? अगर हालात बेहतर होते हैं और इस संक्रमण के साथ हम जीने का कोई रास्ता निकाल लेते हैं और कुछ प्रबंध करने की स्थिति में होते हैं तो जून मध्य या जुलाई में अंतरराष्ट्रीय उड़ानें क्यों नहीं शुरू कर सकते? उन्होंने कहा कि इंटरनेशनल फ्लाइट शुरू करने के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी और एयरलाइंस पूरी तरह से तैयार हैं।

मई तक 50 हजार भारतीयों को वापस ले आएंगे- पुरी

उन्होंने कहा कि अभी तक वंदे भारत मिशन के जरिए 25 हजार 465 भारतीयों को वापस लाया गया है। मई के आखिर तक ये आंकड़ा 50 हजार के करीब हो जाएगा। लॉकडाउन के बीच भारत से  8 हजार लोगों को विदेश पहुंचाया गया। ये लोग विदेशों में जॉब करते थे। इससे कहीं ज्यादा लोग विदेश जाना चाहते थे, लेकिन कई देश हैं जो फिलहाल अपने ही नागरिकों को ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि आरोग्य सेतु ऐप पर जिन यात्रियों का स्टेटस ग्रीन है, उन्हें क्वारैंटाइन करने की कोई जरूरत मुझे समझ नहीं आती है।

25 मई से 33% फ्लाइट शुरू होंगी, अच्छी बुकिंग हुई

पुरी ने बताया कि 25 मई से 33% घरेलू उड़ानें शुरू हो रही हैं। अभी जो आंकड़े आए हैं, उसके मुताबिक बुकिंग के पहले दिन काफी लोगों ने टिकट लिए हैं। फ्लाइट सेवा की काफी डिमांड है। लॉकडाउन के बीच मंत्रालय ने लाइफ लाइन उड़ान शुरू की थी। इसके जरिए एक हजार टन मेडिकल उपकरण व अन्य जरूरी सेवाओं की सप्लाई देशभर में की गई।

डिमांड ज्यादा हुई तो उड़ानों की संख्या बढ़ा देंगे

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि घरेलू उड़ान के लिए डिटेल एसओपी जारी कर दी गई है। एयरपोर्ट पर दो घंटे पहले आने होगा और मास्क पहनना होगा। सभी को सोशल डिस्टेंसिंग पालन करना होगा। सेल्फ डिक्लेरेशन देना होगा कि उनमें कोई लक्षण नहीं है, तभी बोर्डिंग पास मिलेगा। उन्होंने बताया कि अगर डिमांड अच्छी रही और राज्यों के साथ तालमेल ठीक रहा तो जल्द ही घरेलू उड़ानों की संख्या बढ़ा दी जाएगी।

रिफंड के सवाल को टाल गए

लॉकडाउन के चलते रद्द हुईं फ्लाइट्स को लेकर बड़ी संख्या में लोगों ने सवाल पूछा। बताया कि एयरलाइन कंपनियां रिफंड नहीं दे रही हैं। कई बार शिकायत करने के बावजूद वह कोई बात नहीं सुन रहे हैं। इस पर पुरी ने कहा कि रिफंड के लिए पहले ही गाइडलाइंस जारी कर दी गई हैं। सभी को कहा गया है कि वे लॉकडाउन के चलते रद्द हुई फ्लाइट्स का पूरा किराया पैसेंजर्स को रिफंड करें। बार-बार इसके बारे में नहीं बताया जा सकता। यह कमर्शियल मामला है। एयरलाइंस कंपनियां ही इसे देखेंगी।

20 मई को घरेलू उड़ानें शुरू करने का ऐलान किया था

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने 20 मई को ट्वीट करके बताया था कि 25 मई से घरेलू उड़ानें शुरू हो जाएंगी। 21 मई को इसके लिए डिटेल गाइडलाइंस भी जारी की गई थी। इसके लिए 8 एयरलाइंस कंपनियों को मंजूरी मिली है। शुक्रवार से कई कंपनियों ने ऑनलाइन एयर टिकट बुकिंग की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है।

पब्लिक के सवालों का पुरी ने दिया जवाब-

  • भारत दुनिया का पहला ऐसा देश है जिसने सबसे पहले चीन से आने वाली फ्लाइट्स पर रोक लगाई थी। इसका कारण सबको पता है।
  • कोरोना संकट के चलते देश के 30 एयरपोर्ट पर दूसरे देशों से आने वाले 15 लाख 28 हजार लोगों की स्क्रीनिंग हुई।
  • घरेलू उड़ानों में खाना अभी नहीं मिलेगा। हां, पानी जरूर उपलब्ध होगा।
  • ओसीआई कार्ड होल्डर भी वंदे भारत मिशन के जरिए भारत आ सकेंगे।
  • सभी को कोरोना टेस्ट की जरूरत नहीं है। टेस्ट कराना सभी यात्रियों के लिए अनिवार्य नहीं किया जा सकता है।
  • हम ज्यादा फ्लाइट चलाने के लिए तैयार हैं। अगर राज्य सरकारें अनुमति दें तो ऐसा संभव है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here