नालासोपारा में जनता कर्फ्यू से सड़कों पर दिखा सन्नाटा, प्रशासन रहा अलर्ट

0
70

रवि जैन/नालासोपारा। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अह्वान पर 22 मार्च रविवार को किए गए जनता कर्फ्यू के आह्वान पर पूरे नालासोपारा पूर्व व पश्चिम के सड़कों पर सन्नाटा दिखा। इस दौरान सड़की पूरी तरह सुनसान रही। सड़कों पर पुलिस एवं बीएएमसी प्रशासन के अलावा इक्का-दुक्का लोग ही नजर आ रहे थे। इस दौरान प्रशासन पूरी तरह से चुस्त-दुरुस्त नजर आया।
जानकारी के अनुसार, नालासोपारा ईस्ट और वेस्ट के मुख्य मार्गों सहित यह के विभिन्न इलाकों में पूरे दिन लोग अपने घरों में रहे ताकि कोरोना के संक्रमण को कम किया जा सके। सड़कों पर पुलिस प्रशासन पूरी तरह से सतर्क रहा तथा बीएमसी प्रसासन के कर्मचारी क्षेत्र की साफ-सफाई का विशेष ख्याल रख रहे थे। कुछ जरूरी सेवाओं को छोड़कर बाकी सभी सेवाएं बंद रहे। पेट्रोल पंपों पर इक्का-दुक्का गाड़ियां ही कभी कभार आ रही थीं। सड़कों पर एंबुलेंस, पुलिस वैन व एकाध नागरिक दिखाई दे रहे थे। इस दौरान स्थिति का जायजा लेने के लिए प्रशासन ड्यूटी पर लगा रहा।
इस दौरान कुछ स्थानीय लोगों ने ऐसे मुश्किल समय में ड्यूटी पर लगे पुलिस कर्मियों सहित जरूरी सेवा के लोगों को चाय-बिस्कुट आदि का इंतजाम किया तो शाम को 5 बजे लोगों ने उनके सम्मान में तालियों के साथ थालियां बजाई। कुल मिलाकर अगर छिटपुट जगहों को छोड़ दें तो पूरी तरह से शहर में सन्नाटा दिखाई दिया।
ऑन ड्यूटी पुलिसकर्मियों ने सुरभि सलोनी से बातचीत में बताया कि प्रशासन एकाध लोगों सड़कों पर दिखे बाकी पूरी तरह से शांति रही। सड़कों पर गिने-चुने लोग नजर आए जो किसी न किसी अति आवश्यक कार्य की वजह से घर से निकले थे। हालांकि कुछ जगहों पर थोड़े लोग बाहर निकले थे, जिन्हें प्रशासन को घर के अंदर रहने के लिए कहना पड़ा और वे घर चले गए।
वसई-विरार महानगर पालिका के सभापति अतुल सालुंखे ने सुरभि सलोनी से बातचीत करते हुए प्रशासन व जनता की तारीफ करते हुए अपनी वर्तमान व आने वाले समय की तैयारियों के बारे में भी बताया। उन्होंने कहा कि कोरोना से पीड़ितों पर स्थानीय आरोग्य विभाग पूरी निगरानी रख रहा है साथ ही शहर को सेनेटाइज करने का भी इंतजाम किया गया है। सफाई व स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा जगह-जगह सेनेटाइज किया जा रहा है ताकि हम कोरोना जैसी महामारी से लड़ सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)