रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोले, अब सीमा पार करने से नहीं हिचकतीं भारत की सेनाएं

0
29

नई दिल्ली: बालाकोट हवाई हमले की पहली वर्षगांठ पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत के रुख में बड़ा बदलाव आया है। अब आतंकी हमलों से देश को बचाने के लिए भारत की सेनाएं सीमा पार करके अभियान को अंजाम देने से भी नहीं हिचकतीं हैं। राजनाथ सिंह ने बुधवार को ट्वीट किया, ‘भारत आज बालाकोट हवाई हमले की पहली वर्षगांठ मना रहा है। निडर वायुसेना द्वारा यह आतंकवाद के खिलाफ सफल ऑपरेशन था।’
पिछले साल 14 फरवरी को पुलवामा आतंकी हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 40 कर्मियों की शहादत का बदला लेने के लिए भारतीय वायुसेना ने पिछले साल 26 फरवरी को पाकिस्तान स्थित बालाकोट में आतंकी प्रशिक्षण शिविर पर बमबारी की थी। राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत आज बालाकोट हवाई हमले की पहली वर्षगांठ मना रहा है। बालाकोट वायुसेना द्वारा यह आतंकवाद के खिलाफ सफल ऑपरेशन था।
रक्षा मंत्री ने कहा कि मोदी सरकार ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में नया रुख अपनाया है जिसमें यह दृढ़ संकल्प प्रदर्शित होता है कि आतंकवाद के खतरे से देश को बचाने के लिए सीमा पार स्ट्राइक से भी नहीं चूकेंगे। 2016 में की गई सर्जिकल स्ट्राइक और 2019 में बालाकोट एयर स्ट्राइक इस बदलाव का सुबूत हैं। यह निश्चित रूप से नया और आत्मविश्वास से भरपूर भारत है।
अपने ट्वीट में राजनाथ सिंह ने आतंकवाद से निपटने में भारत के रुख में बदलाव लाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद भी दिया। याद दिला दें कि उड़ी में हुए आतंकी हमले के जवाब में भारतीय सेना ने 29 सितंबर, 2016 को नियंत्रण रेखा पार करके गुलाम कश्मीर स्थित कई आतंकी कैंपों पर सर्जिकल स्ट्राइक की थी। मालूम हो कि बालाकोट एयर स्ट्राइक को आतंकवाद के खिलाफ भारत के रुख में सैद्धांतिक बदलाव के तौर पर देखा गया था क्योंकि इसे पाकिस्तान के अंदर अंजाम दिया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)