उपासक रतनलाल हिरण का 75 वॉ जन्मदिन सामुहिक सामायिक के साथ मनाया गया

0
452

भांडुप। गुरुवार को भांडुप स्थित तेरापंथ भवन के प्रांगण में अनोखें तरीके से उपासक रतनलाल हिरण का 75 वॉ जन्मदिन मनाया गया। इस समारोह में ना तो केक काटा गया ना ही किसी तरह की पार्टी रखी गई थी। बल्कि उपासक रतनलाल हिरण के परिवार जनों ने सामुहिक सामायिक का आयोजन रखा। जिसमें भारी संख्या में लोगों ने सामायिक कर रतनलाल हिरण को जन्मदिन की शुभकामनाएं एवं मंगलकामनाएं प्रेषित की। वही भांडुप तेरापंथ समाज द्वारा उनका सम्मान मोमेंटो दे कर  किया गया।
श्री तुलसी महाप्रज्ञ फाउंडेशन के अध्यक्ष के.एल. परमार ( रतनलाल हिरण के दामाद) ने कहा कि पिताजी का अब तक का पूरा जीवन धर्म संघ को समर्पित रहा हैं। 19 वर्ष से उपासक है और 17 वर्ष से लगातार उपासक के रूप में यात्राएं कर चुके हैं। तपस्या के क्षेत्र में भी कई तपस्याएं उनके नाम दर्ज हैं। इसीलिये पूरे परिवार ने तय किया कि उनका जन्मदिन भी आध्यात्मिक तरीके से मनाएंगे। हमने सामुहिक सामायिक का आयोजन रखा जिसमें भारी संख्या में लोगों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कारवाई। 75वें जन्मदिन पर 75 सामायिक का लक्ष्य था परंतु 90  से ज्यादा  सामायिक हुई ।
रतनलाल हिरण ने कहा कि मेरे जन्मदिन का सबसे बड़ा उपहार श्रावक समाज ने इस सामायिक समारोह में सम्मिलित होकर दिया हैं। सभी से निवेदन है कि गुरु इंगित अनुसार दिन में कम से कम एक सामायिक करने का सभी का भाव रखें यही मेरे लिए सबसे बड़ा गिफ्ट होगा।फतेहलालजी लोढ़ा ने कहा रतनलालजी  के मन मे भांडुप में एक तेरापंथ भवन की तड़प थी। आज उसी तेरापंथ भवन मे उनका 75 वॉ जन्मदिन मना रहे हैं। इस अवसर पर मुंबई तेरापंथ महिला मंडल अध्यक्षा भाग्यश्री कच्छारा, भांडुप तेरापंथ सभा के अध्यक्ष श्रीमान बाबूलाल जी कोठारी  मंत्री श्रीमान देवेंद्र जी कोठारी भांडुप महिला मंडल संयोजिका पिस्ता परमार, भांडुप तेयुप अध्यक्ष मनसुख हिरण व भांडुप के सभी गणमान्य व्यक्ति की उपस्थिति रही।
रूहानी हिरण, आलोक परमार,  उपासक रूपचंद जैन,  सुशील कोठारी, रविन्द्र सियाल,  अनीता राठोड़, सीमा कोठारी, गरिमा आच्छा व मोहिनीजी आदि ने अपने अभिनदंन के भाव रखे। कार्यक्रम में मंच का कुशलतापूर्वक संचालन सुनीता परमार ने अपने भावों को व्यक्त करते हुए किया। कार्यक्रम की शुरुआत नवकार महामंत्र के उच्चारण एवं भांडुप महिला मंडल की सुंदर मंगलाचरण गीतिका के साथ हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)