जैन विद्या परीक्षा भाग 8 में अखिल भारतीय स्तर पर प्रथम रहीं वंदना मुणोत

0
323

मुंबई। जैन विश्व भारती के निर्देशन में समण संस्कृति संकाय द्वारा भारत भर में आयोजित जैन विद्या परीक्षा भाग 8 में मालाड से वंदना प्रमोद मुणोत ने 195 अंक हासिल कर पूरे भारत में प्रथम स्थान प्राप्त कर मुणोत कुल एवं तेरापंथ समाज मालाड का गौरव बढ़ाया।
जैन विद्या के प्रति आचार्य श्री महाश्रमण जी का विशेष लक्ष्य रहता है। श्रीमती मुणोत ने बताया कि इस वर्ष आगम मनीषी प्रोफ़ेसर मुनि श्री महेंद्र कुमार जी का कांदिवली भवन में पावस प्रवास रहा उस समय मुनि श्री जी की विशेष प्रेरणा रही । सभी मुनिप्रवर ने प्रोत्साहित किया जिसके कारण वह अच्छे से तैयारी कर पाई। परम पावन आचार्य श्री महाश्रमण जी एवं मुम्बई प्रवासित सभी चारित्रात्माओं के प्रति कृतज्ञता के भाव प्रकट किये।
मालाड केंद्र व्यवस्थापिका संगीता चपलोत अपनी टीम के साथ पिछले कई वर्षों से पूरी जागरूकता से जैन विद्या के प्रति कार्य कर रहे है। पूरा मुणोत परिवार धर्मसंघ के प्रति समर्पित परिवार है। ससुर शंकरलाल को गुरुदेव ने महती कृपा करके श्रद्धा निष्ठा श्रावक का गौरवशाली अलंकरण प्रदान कराया। सासु माँ सुंदर देवी साधु संतों के सेवा में अग्रणी रहती है। पति प्रमोद मुणोत उपासक तेयुप मालाड को अपनी सेवाएं प्रदान कर रहे है। राजेन्द्र, संजय, भावना, निर्मला धर्म संघ की विभिन्न संस्थाओं में सेवा प्रदान कर रही हैं।
वन्दना की इस कामयाबी पर किशनलाल डागलिया, रमेश सुतरिया, अशोक तातेड़, अरविंद धाकड़, दलपत बाबेल, सोहनलाल पटवारी, जवेरीमल बड़ोला, मदनलाल रांका, तेजबाई, महावीर कोठारी, ललित बाफना,नितेश धाकड़, कनक सिंघवी, सुखलाल कच्छारा, संजय बड़ोला, कच्छारा, स्नेहलता कच्छारा, कल्पना कोठारी, गौरव, शुभम, हितेश, अंकुश, साक्षी, कमल, प्रांजल, प्रज्ञा, आयुष, प्रेक्षा, शीतल, सोनल ने उनकी उपलब्धि पर बधाई दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)