अगले साल 1 जून से ‘एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड’ लागू होगा

0
26

उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने कहा है कि अगले साल 1 जून से ‘एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड’ योजना देशभर में लागू होगी। पासवान ने मंगलवार को लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में राशन कार्ड के लिए 14 राज्यों में पीओएस मशीन की सुविधा शुरू चुकी है। जल्द ही अन्य राज्यों में यह इसे शुरू कर दिया जाएगा। अभी तक जिस वॉर्ड या पंचायत से राशन कार्ड बना है, उसी इलाके के सरकारी राशन की दुकान से सामान खरीदा जा सकता है।
वन नेशन-वन राशन कार्ड स्कीम से फायदा

  • इस योजना से आम लोगों को फायदा मिलेगा। इसके बाद लोग अब किसी खास पीडीएस दुकान से बंधे नहीं रहेंगे और वे कहीं भी राशन ले पाएंगे। दुकान मालिकों पर निर्भरता घटेगी और भ्रष्टाचार में कमी आएगी।
  • पासवान के अनुसार, इस योजना से सबसे ज्यादा फायदा उन लोगों को होगा, जो नौकरी के बेहतर अवसरों के लिए दूसरे राज्यों में रहते हैं। अगर कोई व्यक्ति बिहार-उत्तर प्रदेश से दिल्ली में नौकरी करने आए हैं तो उन्हें वहीं आसानी से पीडीएस दुकान पर राशन मिलेगा।
  • मौजूदा समय में आंध्र प्रदेश, हरियाणा समेत कई राज्यों में 100 फीसदी दुकानों पर पीओएस मशीनें उपलब्ध हो गई हैं। एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड को लागू करने के लिए सभी पीडीएस दुकानों पर पीओएस लगाना होगा।

इन राज्यों में लागू है आईएमपीडीएस
इंटीग्रेटिड मैनेजमेंट ऑफ पीडीएस (आईएमपीडीएस) के तहत कई राज्यों में खाद्य और सार्वजनिक वितरण के तहत लाभार्थी किसी भी जिले से राशन खरीद सकते हैं। इन राज्यों में आंध्र प्रदेश, गुजरात, हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, राजस्थान, तेलंगाना और त्रिपुरा शामिल हैं। राशन कार्ड को आधार नंबर से जोड़ने पर चोरी और धांधली में कमी आएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)