तेलंगाना दुष्कर्म : मुख्यमंत्री का आदेश- फास्ट ट्रैक कोर्ट में केस चलेगा

0
9

हैदराबाद: महिला वेटरनरी डॉक्टर से दुष्कर्म और हत्या के मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी। तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने घटना के चार दिन बाद रविवार को इसका आदेश दिया। देशभर में इस घटना के बाद आक्रोश है। वहीं, एक आरोपी की मां ने कहा कि चाहेंं तो उसके बेटे को जिंदा जला दें। उसके साथ कोई रियायत नहीं बरती जाए। साध्वी ऋतंभरा ने कहा कि अब महिलाओं को खुद सक्षम बनना होगा और ऐसे अपराधियों को सजा देनी होगी। यह वह देश है, जहां नारी की पूजा होती है। वेटरनरी डॉक्टर के साथ जो कुछ हुआ, उसने पूरे देश को लज्जित किया है।

मुख्यमंत्री राव ने कहा कि यह घटना बेहद खौफनाक है। पुलिस दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाए। सरकार पीड़ित परिवार की पूरी सहायता करेगी। उधर, पुलिस ने कहा है कि वह कोर्ट में याचिका दायर कर आरोपियों की हिरासत की मांग करेगी, ताकि उनसे आगे की पूछताछ की जा सके। इसके पहले कार्यकारी मजिस्ट्रेट ने चारों आरोपियों को 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया था।

रंगा रेड्‌डी जिले में 26 वर्षीय डॉक्टर से 25 नवंबर की रात सामूहिक दुष्कर्म हुआ। अगले दिन सुबह अधजली हालत में शव मिला था।

कार्रवाई के लिए खुदकुशी की धमकी दी

खम्मम शहर में रविवार को रोहित नाम के ग्रेजुएट स्टूडेंट ने तीन मंजिला इमारत से छलांग लगाकर आत्महत्या की धमकी दी। वह दोषियों को फांसी की सजा की मांग कर रहा था। फिलहाल, पुलिस ने उसे नीचे उतारकर हिरासत में ले लिया।

टायर मैकेनिक के जरिए आरोपियों तक पहुंची पुलिस
पुलिस ने बताया कि एक टायर मैकेनिक की मदद से आरोपियों तक पहुंचा जा सका। पीड़िता की गाड़ी खराब हो गई थी। इस पर पुलिस ने आसपास के टायर मैकेनिकों को खोजा। एक मैकेनिक ने बताया कि कोई पंक्चर टायर में हवा भरवाने के लिए लाल रंग की बाइक लाया था। गवाहों से पता चला कि आरोपी उल्टी दिशा से बाइक ला रहे थे। पुलिस ने रास्ते के सीसीटीवी फुटेज खंगाले। इसमें दो आरोपी स्कूटर के साथ दिखे। एक ट्रक 6-7 घंटे तक सड़क पर खड़ा भी दिखा। स्क्रीनशॉट से ट्रक का रजिस्ट्रेशन नंबर मिला। पुलिस ट्रक के मालिक तक पहुंची। ट्रक मालिक ने एक आरोपी का पता बताया।

चारों आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेजा
साइबराबाद पुलिस ने चार आरोपियों मोहम्मद आरिफ, जोलू शिवा, जोलू नवीन और चिंताकुंटा चेन्नाकेशवुलु को गिरफ्तार किया। आरिफ की उम्र 26 साल है, जबकि बाकी आरोपियों की उम्र 20 साल है। ये सभी ट्रक ड्राइवर और क्लीनर हैं, जिन्होंने शराब पीने के बाद 7 घंटे तक डॉक्टर के साथ दरिंदगी की थी। इसके बाद पीड़ित को शादनगर के बाहरी इलाके में जला दिया था।

आरोपी की मां बोली- बेटे को फांसी दे दो
आरोपी सी चेन्नाकेशवुल की मां ने कहा कि उसके बेटे से कोई रियायत नहीं बरती जाए। चाहें तो बेटे को उसी तरह जिंदा जला दें, जैसे उसने पीड़िता को जलाया था। हमारी भी एक बेटी है। इस नाते हम समझ सकते हैं कि पीड़िता का परिवार किस तकलीफ से गुजर रहा है। आरोपी की मां से मीडिया ने पूछा था कि बेटे को क्या सजा मिलनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)