भारत और सिंगापुर रक्षा क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग को नया आयाम देंगे

0
9

नयी दिल्ली। भारत और सिंगापुर ने रक्षा क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग को नया आयाम देने पर सहमति प्रकट की है। सिंगापुर की यात्रा पर गये श्री सिंह ने आज सिंगापुर के उप प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री हेंग स्वी कीट से मुलाकात की। बैठक में श्री सिंह ने भारत और सिंगापुर की सेनाओं के बीच बढते संपर्क और तालमेल पर संतोष व्यक्त किया। दोनों नेताओं ने रक्षा क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग को नयी ऊंचाई पर ले जाने पर सहमति प्रकट की।
श्री सिंह ने दक्षिण चीन सागर और हिंद प्रशांत क्षेत्र में भारत के रूख का भी उल्लेख किया। उन्होंने जोर देकर कहा कि हिन्द प्रशांत का भारत के लिए मतलब है खुला, समावेशी और स्थिर क्षेत्र जिससे जुड़ा समुद्री क्षेत्र सुरक्षित और व्यापार के लिए अनुकूल है।
उन्होंने दोहराया कि हिन्द प्रशांत क्षेत्र में नियम आधारित व्यवस्था कायम करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय नियमों का क्रियान्वयन, नौवहन की स्वतंत्रता और विवादों का शांतिपूर्ण समाधान जरूरी है। उन्होंने क्षेत्रीय सहयोग के लिए भारत की ‘सागर’ योजना का भी उल्लेख किया। रक्षा मंत्री ने क्षेत्रीय समग्र आर्थिक भागीदारी (आरसेप) में शामिल नहीं होने के भारत के निर्णय की जानकारी भी सिंगापुर के उप प्रधानमंत्री काे दी तथा इस बारे में भारत का रूख स्पष्ट किया।
श्री सिंह ने सिंगापुर में महात्मा गांधी के ‘मार्कर’ पर जाकर उन्हें श्रद्धांजलि भी दी। वह नेताजी सुभाष चंद्र बोस के स्मारक पर भी गये और आजाद हिन्द फौज के शहीदों को भी नमन किया। वह आजाद हिन्द फौज में रहे मेजर ईश्वर लाल से भी मिले। वहां उन्होंने एनसीसी के कैडेटों से भी बात की। रक्षा मंत्री बुधवार को सिंगापुर के रक्षा मंत्री के साथ दोनों देशों के चौथे रक्षा मंत्री संवाद की भी सहअध्यक्षता करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)