राष्ट्रपति शासन : इंदिरा गांधी के कार्यकाल में 49 बार इसका इस्तेमाल हुआ

0
42

महाराष्ट्र में चुनाव नतीजे आने के 19 दिन बाद भी सरकार बनने की संभावना नहीं दिखने पर वहां राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया। महाराष्ट्र के इतिहास में यह तीसरा मौका है, जब राष्ट्रपति शासन लगाया गया है। पहली बार 17 फरवरी से 9 जून 1980 तक और दूसरी बार 2014 में 32 दिनों के लिए राष्ट्रपति शासन लगाया गया था। आजादी के बाद से अब तक 121 मौके आए, जब राज्यों में राष्ट्रपति शासन लगाया गया। इंदिरा गांधी के प्रधानमंत्री रहते सबसे ज्यादा 49 बार अलग-अलग राज्यों में राष्ट्रपति शासन लगाया गया। किसी राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की व्याख्या संविधान के अनुच्छेद 356 में की गई है।

राष्ट्रपति शासन पहली बार 1951 में लगा था

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, आजादी के बाद पंजाब वह राज्य था, जहां राष्ट्रपति शासन लगाया गया था। कांग्रेस में फूट की वजह से यहां 20 जून 1951 से 17 अप्रैल 1952 के बीच राष्ट्रपति शासन लगाया गया। आपातकाल के बाद 24 मार्च 1977 को मोरारजी देसाई प्रधानमंत्री बने। उन्होंने 30 अप्रैल 1977 को 9 राज्यों में एक साथ राष्ट्रपति शासन लगा दिया। जनता पार्टी के तीन साल के कार्यकाल में कुल 16 मौके ऐसे आए, जब अलग-अलग राज्यों में राष्ट्रपति शासन लगा। इस दौरान मोरारजी देसाई के अलावा चरण सिंह भी करीब 6 महीने के लिए कांग्रेस के समर्थन से प्रधानमंत्री बने थे। इनमें 12 बार मोरारजी देसाई और 4 बार चरण सिंह के कार्यकाल में राष्ट्रपति शासन लगा था।

इंदिरा के शासन में 49 बार राष्ट्रपति शासन लगा था

इंदिरा गांधी का आपातकाल से पहले और बाद में बतौर प्रधानमंत्री कुल 15 साल का कार्यकाल रहा। इस दौरान 1966 से 1977 के बीच 33 बार और 1980 से 1984 के बीच 16 बार अलग-अलग राज्यों में राष्ट्रपति शासन लगा। इस तरह उनके प्रधानमंत्री रहते रिकॉर्ड 49 बार राष्ट्रपति शासन लगा। जनता पार्टी की सरकार गिरने के बाद 1980 में इंदिरा गांधी चौथी बार प्रधानमंत्री बनीं और 17 फरवरी को एक साथ 9 राज्यों में राष्ट्रपति शासन लगा दिया था।

1989 से 1999 तक 10 साल में 20 बार राष्ट्रपति शासन लगा

1989 से लेकर 1999 तक 7 प्रधानमंत्री बने। इस दौरान 20 बार राष्ट्रपति शासन लगाया गया। अटल बिहारी वाजपेयी तीन बार प्रधानमंत्री बने। उनके 6 साल के कार्यकाल में सिर्फ 4 बार राष्ट्रपति शासन लगा।

प्रधानमंत्री

कार्यकाल

राज्यों में कितनी बार राष्ट्रपति शासन लगा?

जवाहरलाल नेहरू

15 अगस्त 1947 से 27 मई 1964

7

लालबहादुर शास्त्री

9 जून 1964 से 11 जनवरी 1966

2

इंदिरा गांधी

24 जनवरी 1966 से 24 मार्च 1977

14 जनवरी 1980 से 31 अक्टूबर 1984

49

मोरारजी देसाई

24 मार्च 1977 से 28 जुलाई 1979

12

चरण सिंह

28 जुलाई 1979 से 14 जनवरी 1980

4

राजीव गांधी

31 अक्टूबर 1984 से 2 दिसंबर 1989

6

वीपी सिंह

2 दिसंबर 1989 से 10 नवंबर 1990

2

चंद्रशेखर

10 नवंबर 1990 से 21 जून 1991

4

पीवी नरसिम्हा राव

21 जून 1991 से 16 मई 1996

11

अटल बिहारी वाजपेयी

16 मई 1996 से 1 जून 1996

19 मार्च 1998 से 22 मई 2004

4

एचडी देवेगौड़ा

1 जून 1996 से 21 अप्रैल 1997

2

इंद्र कुमार गुजराल

21 अप्रैल 1997 से 19 मार्च 1998

0

मनमोहन सिंह

22 मई 2004 से 26 मई 2014

11

नरेंद्र मोदी

26 मई 2014 से अब तक

7

 

उप्र में सबसे ज्यादा 10 बार राष्ट्रपति शासन लगा, पंजाब में सबसे ज्यादा दिन तक यह लागू रहा

देश के 27 राज्यों में कम से कम एक बार राष्ट्रपति शासन लगा। 13 राज्यों में 4 या इससे ज्यादा बार राष्ट्रपति शासन लगाया गया। उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा 10 बार राष्ट्रपति शासन लगाया गया। हालांकि, सबसे ज्यादा दिन तक राष्ट्रपति शासन लागू रहने के मामले में पंजाब सबसे आगे है। यहां अलग-अलग मौकों पर कुल 3510 दिन यानी लगभग 10 साल राष्ट्रपति शासन रहा। दूसरे नंबर पर जम्मू-कश्मीर है, जहां 3 बार राष्ट्रपति शासन लगा और यह कुल 2375 दिन लागू रहा। राज्य में पहले राज्यपाल शासन लगाया जाता रहा, इसके बाद राष्ट्रपति शासन की सिफारिशें हुईं।

राज्य

कितनी बार राष्ट्रपति शासन 

कुल कितने दिन राष्ट्रपति शासन

उत्तर प्रदेश

10

1700

बिहार

9

996

केरल

8

1515

मणिपुर

8

1327

ओडिशा

8

750

पंजाब

8

3510

गुजरात

5

1235

कर्नाटक

4

497

पश्चिम बंगाल

4

1067

असम

4

1117

नागालैंड

4

1545

तमिलनाडु

4

1137

राजस्थान

4

864

राष्ट्रपति शासन लगने के प्रमुख कारण

  1. चुनाव नतीजों के बाद किसी एक दल या गठबंधन को स्पष्ट बहुमत नहीं मिलना।
  2. सत्ता पक्ष के विधायकों के विपक्षी दल में शामिल होने के कारण सरकार गिरना।
  3. सत्तापक्ष का गठबंधन टूटने के बाद सरकार गिरना और राजनीतिक अस्थिरता ।
  4. बहुमत होने के बावजूद मुख्यमंत्री का इस्तीफे देना।

कानून-व्यवस्था की स्थिति के चलते भी राष्ट्रपति शासन लगा

  • पंजाब में 80 के दशक में उग्रवादी गतिविधियों के चलते 1987-92 के बीच लगातार 5 साल तक राष्ट्रपति शासन लागू रहा। यह पहला मौका था, जब किसी राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू रखने की अधिकतम सीमा (3 साल) से ज्यादा दिन तक राष्ट्रपति शासन लागू रहा। पंजाब में इसे 3 से 5 साल करने पर संविधान में इसका उल्लेख भी किया गया।

  • जम्मू-कश्मीर में 1990-96 के बीच आतंकी गतिविधियां बढ़ने और संवैधानिक व्यवस्था के असफल रहने के कारण लगातार 6 साल तक राष्ट्रपति शासन लगाया गया। यह दूसरी बार था जब संविधान के अनुसार राष्ट्रपति शासन की अधिकतम सीमा (3 साल) को बढ़ाया गया।

  • उत्तर प्रदेश में 1973 में पुलिस विद्रोह के कारण 5 महीने तक और 1992 में बाबरी विध्वंस के बाद भड़के दंगों के चलते पूरे 1 साल तक राष्ट्रपति शासन लगाया गया।

  • मणिपुर में 1972 में राज्य के पुनर्गठन, 1979-80 के दौरान कानून व्यवस्था बिगड़ने के चलते और 1993-94 में नागा-कुकी संघर्षों के कारण राष्ट्रपति शासन लगा।

  • आंध्र प्रदेश में 1973 में अलग आंध्र राज्य बनाने की मांग के लिए हुए हिंसक आंदोलन से राज्य सरकार निपटने में असफल रही। इसके बाद यहां राष्ट्रपति शासन लगाया गया, जो करीब 11 महीने तक लागू रहा।

  • तमिलनाडु में 1976 में राज्यपाल की सिफारिश पर केन्द्रीय कैबिनेट ने राष्ट्रपति को प्रस्ताव भेजा। राज्य में भ्रष्टाचार को इसका कारण बताया गया।

जम्मू-कश्मीर में 8 बार राज्यपाल और 3 बार राष्ट्रपति शासन लगा

अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा हासिल था। इसके तहत राज्य में किसी भी तरह की राजनीतिक अस्थिरता या बिगड़ती कानून व्यवस्था से निपटने के लिए पहले राज्यपाल शासन ही लगाया जा सकता था। राज्यपाल शासन लगने के बाद अगर राज्यपाल सिफारिश करते थे, तो वहां राष्ट्रपति शासन लगता था। हालांकि, अनुच्छेद 370 को हटा दिया गया है, जिसके बाद अब वहां राष्ट्रपति शासन ही लगेगा।

1990 में राज्य में आतंकवाद अपने चरम पर था और उस वक्त 6 साल तक वहां पर राष्ट्रपति शासन लगाया गया था। जम्मू-कश्मीर में अब तक 8 बार राज्यपाल और तीन बार राष्ट्रपति शासन लग चुका है।

किस राष्ट्रपति के कार्यकाल में कितनी बार राष्ट्रपति शासन लगा?

राष्ट्रपति

कार्यकाल

कितनी बार लगा?

राजेंद्र प्रसाद

26 जनवरी 1950 से 13 मई 1962 (तीन बार)

7

सर्वपल्ली राधाकृष्णन

13 मई 1962 से 13 मई 1967

4

जाकिर हुसैन

13 मई 1967 से 3 मई 1969

5

वीवी गिरी

24 अगस्त 1969 से 24 अगस्त 1974

19

फखरूद्दीन अली अहमद

24 अगस्त 1974 से 11 फरवरी 1977

5

बीडी जट्टी (एक्टिंग)

11 फरवरी 1977 से 25 जुलाई1977

10

नीलम संजीव रेड्डी

25 जुलाई 1977 से 25 जुलाई 1982

20

जैल सिंह

25 जुलाई 1982 से 25 जुलाई 1987

4

रामास्वामी वेंकटरमण

25 जुलाई 1987 से 25 जुलाई 1992

13

शंकर दयाल शर्मा

25 जुलाई 1992 से 25 जुलाई 1997

10

केआर नारायण

25 जुलाई 1997 से 25 जुलाई 2002

4

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम

25 जुलाई 2002 से 25 जुलाई 2007

2

प्रतिभा पाटिल

25 जुलाई 2007 से 25 जुलाई 2012

6

प्रणब मुखर्जी

25 जुलाई 2012 से 25 जुलाई 2017

8

रामनाथ कोविंद

25 जुलाई 2017 से अब तक

7

 

Thanks:www.bhaskar.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)