जम्मू-कश्मीर के मौजूदा हालात पर अमित शाह ने ली अहम बैठक, डोभाल दोबारा जाएंगे घाटी

0
21

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर में मौजूदा हालात को लेकर केंद्र सरकार नजर बनाए हुए हैं। यही वजह है कि गृहमंत्री अमित शाह ने सोमवार को घाटी को लेकर अहम बैठक की। इस बैठक में जम्मू-कश्मीर से लौटे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल भी मौजूद रहे। बैठक में जम्मू-कश्मीर के मौजूदा हालात के साथ-साथ बौखलाए पाकिस्तान के रुख तक अहम चर्चा की गई।
दरअसल NSA अजीत डोभाल जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से ही अजित डोभाल काफी दिनों तक जम्मू-कश्मीर में ही थे और वहां की स्थिति पर करीब से नजर बनाए हुए थे।
बताया जा रहा है कि वहां से लौटने के बाद गृह मंत्री अमित शाह डोभाल से घाटी के हालात की एक्चुअल रिपोर्ट भी ले रहे हैं।
जल्द कश्मीर के लिए रवाना होंगे डोभाल 
घाटी में करीब 15 दिन बिताने के बाद बताया जा रहा है कि एनएसए अजीत डोभाल जल्द दोबारा कश्मीर जाएंगे।
दरअसल पाकिस्तान के रुख को देखते हुए सरकार किसी भी तरह की चूक नहीं चाहती है।
यही वजह है कि डोभाल को कुछ समय के लिए दोबारा कश्मीर भेजा जा रहा है।
गृहमंत्रालय में हुई यह बैठक करीब डेढ घंटा चली। दरअसल एनएसए अजीत डोभाल दो दिन पहले से ही घाटी से दिल्ली लौटे हैं।
इस बैठक में अमित शाह के अलावा गृह सचिव और अन्य बड़े अधिकारी शामिल रहे। आपको बता दें कि आज करीब 14 दिन बाद घाटी में स्कूल-कॉलेज खुले हैं।
कड़ी सुरक्षा के बीच स्कूल-कॉलेज खुले हैं, हालांकि काफी कम संख्या में बच्चे स्कूल पहुंचे थे।
आजाद ने की आजादी की मांग
इससे पहले जम्मू-कश्मीर के हालात पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने एक बार फिर बयान दिया है।
उन्होंने मांग की है कि जम्मू-कश्मीर के दो पूर्व मुख्यमंत्रियों को बंदी बनाया हुआ है उन्हें तुरंत छोड़ा जाए।
आजाद ने कहा कि दोनों पूर्व सीएम पिछले 15 दिन से बंदी बनाए गए हैं, जो ठीक नहीं है।
यही नहीं आजाद ने यह भी कहा कि घाटी के लोगों पर लगी पाबंदियों को हटाया जाए।
आजाद ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर में डर का माहौल बनाया हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)