महिलाओं और बच्चों के खिलाफ अपराध बढ़े

0
7

मुंबई:राज्य में महिलाओं और बच्चों के खिलाफ अपराधिक मामले बढ़े हैं जो चिंता का विषय है। महाराष्ट्र सरकार द्वारा पेश की गई आर्थिक रिपोर्ट के अनुसार, राज्य में महिलाओं के खिलाफ साल 2016 में 31,275 मामले, साल 2017 में 32,023 और साल 2018 में 33,557 मामले दर्ज किए गए।
अब भी राज्य में हर साल 4,000 से ज्यादा महिलाओं से बलात्कार के मामले दर्ज किए जा रहे हैं। साल 2016 में 4,189 मामले, साल 2017 में 4,320 मामले दर्ज किए गए। हालांकि साल 2018 में इसमें मामूली गिरावट दर्ज की गई और 4076 महिलाओं ने बलात्कार की शिकायतें दर्ज किए गए।
राज्य में छेड़छाड़ की घटनाओं में भी लगातार बढ़ोत्तरी हुई है। साल 2016 में छेड़छाड़ की 11,396 मामले, साल 2017 में 12,138 और 2018 में 14,075 मामले दर्ज किए गए। यौन उत्पीड़न के मामले भी लगातार बढ़ रहे हैं। साल 2016 में 924 यौन उत्पीड़न, साल 2017 में 955 और साल 2018 में 1,064 यौन उत्पीड़न दर्ज किए गए।
राज्य में बच्चों के खिलाफ भी अपराध के गंभीर मामलों में बढ़ोतरी हुई है। साल 2016 में 2,086 नाबालिग बच्चों के बलात्कार का मामला सामने आया जबकि साल 2017 यह बढ़कर 2,305 हो गया और साल 2018 में 2,688 नाबालिग बच्चों पर बलत्कार के मामले दर्ज किए गए हैं। बच्चों की हत्या के मामले भी बढ़े हैं।
साल 2016 में बच्चों की हत्या के 132 मामले दर्ज किए गए थे जबकि 2017 में 147 और 2018 में 169 बच्चों के हत्या के मामले दर्ज किए गए हैं। बच्चों के अपहरण के मामले भी बढ़े है। साल 2016 में 8016 मामले, साल 2017 में 8, 850 और साल 2018 में 9174 बच्चों के अपहरण के मामले दर्ज किए गए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)