भिवंडी में हुआ आचार्य श्री महाश्रमण जी के जन्मोत्सव व पटटोत्सव समारोह का आयोजन

0
184

ठाणे: मंगलवार को भिवंडी में स्थित शत्रुंजय धाम के प्रांगण में महातपस्वी आचार्य श्री महाश्रमण जी का जन्मोत्सव व पटोत्सव समारोह का आयोजन आचार्य श्री महाश्रमण जी की प्रबुद्ध शिष्या साध्वी श्री अणिमाश्रीजी, साध्वीश्री मंगलप्रज्ञाजी एवं साध्वी वृंद के सानिध्य में संपन्न हुआ।साध्वी श्री अणिमा श्री जी ने कहा कि आज का दिन इतना शुभ है कि 13 साध्वियों के सानिध्य में यह कार्यक्रम हो रहा हैं। हमें गर्व हैं की हमने तेरापंथ धर्म संघ में दीक्षा ली और धर्म संघ की प्रभावना में थोड़ा योगदान देने का अवसर प्राप्त हुआ। साध्वी श्री मंगलप्रज्ञा जी ने कहा कि तेरापंथ धर्म संघ ऐसा धर्म संघ जहा एक ही आचार्य रूपी वट वृक्ष के नीचे सभी आश्रित हैं। डॉक्टर साध्वी श्री सुधा प्रभा जी, साध्वी श्री कर्णिका जी ने अपने भाव रखें। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर अभातेयुप राष्ट्रीय महामंत्री संदीप कोठारी ने कहा कि आचार्य श्री कर गुणों की व्यख्या करने की ताकत मुझ में नहीं उनकी एक मुस्कान ही हजारों दुखों को हर लेती हैं।
ग़ौरतलब है कि कार्यक्रम की शुरुआत नवकार महामंत्र के उच्चारण के साथ हुआ। भिवंडी तेयुप टीम ने मंगलाचरण गीतिका का संगान किया। भिवंडी तेयुप मंत्री रोहित जैन सभी अतिथियों का स्वागत अभिनंदन करते हुए अपने भावों को रखा। कहा कि साध्वी श्री अणिमा श्री जी की प्रेरणा की वजह से भिवंडी तेरापंथ समाज में जागृति आई हैं। कुलदीप चोरडिय़ा, मुरली भाई, ठाणे सभा मंत्री जितेंद्र बरलोटा, मनोज काटेकर भिवंडी महानगरपालिका उप महापौर, भिवंडी महिला मंडल ने सुंदर गीतिका का संगान किया, पारसमल दुग्गड़, सुरेश बैद और सुरेंद्र बैद ने सुंदर गीतिका का संगान किया, समारोह अध्यक्ष मुम्बई सभा अध्यक्ष नरेन्द्र तातेड़, आदि ने अपने भाव रखें।
इस अवसर पर अभातेयुप से जगदीश परमार, नरेश सोनी, मुम्बई अणुव्रत समिति कोषाध्यक्ष रमेश सोनी, मनोहर कच्छारा, संजय दुग्गड़, अमृत श्री श्रीमाल आदि उपस्थित थे। साध्वी श्री समत्व यशा जी ने कार्यक्रम में मंच का कुशलतापूर्वक संचालन करते हुए अपने भावों को रखा। कार्यक्रम को सफल बनाने में वरिष्ट श्रावक गेहरी लाल बाफणा, बाबुलाल बाबेल, हनुमानमल सेठिया, नरेन्द्र बोथरा विमल आचलियाँ, प्रकाश बाफना आदि का रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)