देश भर के 22 राज्यों की 100 पवित्र नदियों में विसर्जित होंगी अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां

0
10

नई दिल्ली:पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियों को देश भर के 22 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में स्थित सौ प्रमुख पवित्र नदियों में 95 स्थानों (शहरों) में विसर्जन किया जाएगा। वहीं उनकी अस्थियों को उत्तर प्रदेश के 22 शहरों की नदियों में विसर्जित किया जाएगा। आज अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां लखनऊ लाई जाएंगी।

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के अस्थि कलश रविवार शाम लखनऊ के चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर लाए जाएंगे। इसके बाद 23 अगस्त को दोपहर तीन बजे एक सर्वदलीय सभा का आयोजन किया जाएगा। उसी दिन गोमती नदी में उनकी अस्थियों का विसर्जन भी किया जाएगा।

इस मौके पर अटल जी के परिजनों के साथ ही केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहेंगे। यह जानकारी भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेन्द्रनाथ पाण्डेय ने दी। उन्होंने बताया कि 20 अगस्त को सुबह 10 बजे प्रदेश के 18 स्थानों पर प्रदेश में प्रवाहित होने वाली पवित्र नदियों में विसर्जन के लिए कलश यात्रा प्रदेश कार्यालय से रवाना की जाएगी।

कलश यात्रा के साथ प्रदेश सरकार के एक मंत्री और भाजपा के प्रदेश पदाधिकारी साथ जाएंगे। रास्ते में पड़ने वाले जिलों में वहां की जनता अपने श्रद्धासुमन अर्पित करेगी और नदी के किनारे घाट पर वहां के गणमान्य नागरिक एवं धर्म गुरु श्रद्धा पुष्प अर्पित करते हुए अस्थि कलश को प्रवाहित करेंगे। डॉ. पाण्डेय ने बताया कि प्रदेश के सभी जिलों में 25 अगस्त को और पार्टी के सभी मंडलों में 27 एवं 28 अगस्त को श्रद्धांजलि सभाएं आयोजित की जाएंगी।

22 राज्यों में किया जाएगा प्रवाह
अटल जी की अस्थियों को उत्तराखंड में तीन स्थानों पर, बिहार में सात, गुजरात में चार, ओडिशा में सात, पश्चिम बंगाल में दो, दिल्ली में एक, असम में दो, पंजाब में तीन, तेलंगाना में दो, राजस्थान में दो, मध्य प्रदेश में चार, केरल में एक, आंध्र प्रदेश में चार, जम्मू कश्मीर में दो, सिक्किम में एक, कर्नाटक में सात, महाराष्ट्र में नौ, दमन में एक, तमिलनाडु में आठ, गोवा में दो, हिमाचल प्रदेश में दो स्थानों पर विसर्जन होगा।

उत्तर प्रदेश :

इलाहाबाद में संगम, आगरा, औरैया, मथुरा, इटावा (सभी में यमुना नदी में), अयोध्या में सरयू में, लखनऊ और जौनपुर में गोमती में, गोरखपुर में राप्ती में, बदायूं में स्त्रोत में चित्रकूट में मंदाकिनी और कानपुर, वाराणसी, मिर्जापुर, फरुर्खाबाद, फतेहगढ़, कन्नौज, कानपुर कैंट, शुक्लागंज, चकेरी और गढ़ मुक्तेश्वर में गंगा में अस्थियों विसर्जन किया जाएगा।

उत्तराखंड :

बद्रीनाथ में अलकनंदा में और ऋषिकेश और हरिद्वार में गंगा में अस्थि विसर्जन होगा।

बिहार  :

भागलपुर, पटना, हाजीपुर, मुंगेर, जमालपुर (सभी में गंगा में), गया में फल्गु में और पूर्णिया में कोसी में अस्थि विसर्जन किया जाएगा।

विवि खोलेगा अटल बिहारी वाजपेयी पत्रकारिता संस्थान

आगरा स्थित डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय एक और संस्थान खोलेगा। विवि के पूर्व छात्र और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर विवि में पत्रकारिता संस्थान खोला जाएगा। अटल बिहारी वाजपेयी पत्रकारिता एवं जनसंचार संस्थान खोलने पर शनिवार को हुई बैठक में मुहर लग गई। विवि के खंदारी परिसर में कुलपति डॉ. अरविंद कुमार दीक्षित की अध्यक्षता में निदेशक और विभागाध्यक्षों की बैठक हुई।

बैठक में विवि के पूर्व छात्र और प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर पत्रकारिता संस्थान खोलने की घोषणा की गई। कुलपति डॉ. अरविंद कुमार दीक्षित के अनुसार यह गौरव का विषय है कि भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी विवि के पूर्व छात्र हैं। उनके पत्रकारिता पक्ष को अक्षुण और कालजयी बनाने के लिए विवि ने उनकी स्मृति में पत्रकारिता संस्थान खोलने का फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि इस संस्थान में पत्रकारिता की सभी विधाओं का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)