न्यूजीलैंड की मस्जिद में गोलीबारी: 40 लोगों की मौत

0
16

क्राइस्टचर्च : न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च की मस्जिदों में शुक्रवार को कम से कम एक बंदूकधारी के हमले में 40 लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने यह जानकारी दी। न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने इस गोलीबारी को न्यूजीलैंड के सबसे काले दिनों में से एक बताया। मस्जिदों में दोपहर को जब हमला हुआ, उस समय लोगों की भीड़ वहां जुम्मे की नमाज के लिए एकत्र थी और बांग्लादेश क्रिकेट टीम के सदस्य वहां पहुंच रहे थे। वहीं, न्यूजीलैंड की पुलिस ने एक महिला समेत चार लोगों को हिरासत में लिया है। न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने कहा है कि मस्जिद में हुई गोलीबारी में 40 लोगों की मौत, 20 लोग गंभीर रूप से घायल हैँ। वहीं, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री ने कहा है कि क्राइस्टचर्च की मस्जिदों में गोलीबारी करने वाला हमलावर आस्ट्रेलियाई नागरिक है।
स्थानीय मीडिया ने बताया कि कम से कम नौ लोगों की मौत हो गई है। भाषा के अनुसार, पुलिस हमलावर को पकड़ने की कोशिश कर रही है जो अब भी सक्रिय है। शहर की घेरेबंदी कर दी गई है जिसके चलते कोई भी व्यक्ति शहर के अंदर या शहर से बाहर नहीं जा सकता। पुलिस आयुक्त माइक बुश ने कहा, ”स्थिति लगातार बदल रही है और हम तथ्यों की पुष्टि के लिए काम कर रहे हैं। हम यह पुष्टि कर सकते हैं कि कई लोगों की मौत हुई है।
बुश ने कहा, ”पुलिस हालात को नियंत्रित करने की पूरी कोशिश कर रही है लेकिन जोखिम अधिक है। अर्डर्न ने कहा कि वह मृतकों की संख्या की पुष्टि करने में सक्षम नहीं हैं। स्थिति अभी पूरी तरह स्पष्ट नहीं है।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘यह स्पष्ट है कि यह न्यूजीलैंड के सबसे काले दिनों में से एक है। अर्डर्न ने कहा, ‘यहां स्पष्ट रूप से जो हुआ, वह हिंसा की असाधारण करतूत है।’ मध्य क्राइस्टचर्च स्थित मस्जिद अल नूर में जब हमला हुआ, तब नमाज पढ़ने के लिए बड़ी संख्या में लोग वहां मौजूद थे। उपनगर लिनवुड स्थित एक अन्य मस्जिद में हमला हुआ।

मस्जिद में मौजूद एक फलस्तीनी व्यक्ति ने बताया कि उसने एक व्यक्ति के सिर में गोली लगती देखी। उसने कहा, ”मुझे लगातार तीन गोलियों की आवाज सुनाई दी और मुश्किल से 10 सेकंड बाद ही फिर से ऐसा हुआ। हमलावर के पास संभवत: स्वचालित हथियार होगा क्योंकि कोई इतनी जल्दी ट्रिगर नहीं दबा सकता।

हमले के समय डीन अवे मजिस्द में नमाज पढ़ रहे एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि उसने बाहर अपनी पत्नी का शव फुटपाथ पर पड़ा देखा।, ”लोग भाग रहे थे। कुछ लोग खून से सने थे। एक अन्य व्यक्ति ने कहा कि उसने बच्चों पर गोलियां चलती देखीं। मेरे चारों ओर शव थे। एक प्रत्यक्षदर्शी ने ‘रेडियो न्यूजीलैंड को बताया कि उसने गोलीबारी सुनी और चार लोग जमीन पर पड़े थे और ”हर तरफ खून था।
अपुष्ट खबरों के अनुसार, हमलावर ने सेना की वर्दी जैसे कपड़े पहने हुए थे। पुलिस आयुक्त बुश ने बताया कि गोलीबारी के कारण शहर के सभी स्कूलों को सुरक्षा घेरे में ले लिया गया है। उन्होंने कहा, ”पुलिस मध्य क्राइस्टचर्च में मौजूद लोगों से सड़कों से दूर रहने की अपील करती है। स्थानीय कार्यालयों और केंद्रीय पुस्तकालय समेत शहर की इमारतों में भी किसी के अंदर जाने या वहां से बाहर आने पर रोक लगा दी गई है।
नगर परिषद ने पास में आयोजित जलवायु परिवर्तन रैली में शामिल होने आए अपने बच्चों की तलाश कर रहे अभिभावकों के लिए हेल्पलाइन नंबर चालू किया है। मृतकों की संख्या को लेकर कोई आधिकारिक सूचना नहीं मिली है लेकिन बांग्लादेश की क्रिकेट टीम के प्रवक्ता ने बताया कि कोई खिलाड़ी हताहत नहीं हुआ है।
उन्होंने एएफपी से कहा, वे सुरक्षित हैं, लेकिन वे सदमे में हैं। हमने टीम से होटल में रहने को कहा है। उन्होंने बताया कि पूरी टीम को बस में बिठाकर मस्जिद लाया गया था और जब गोलीबारी हुई, तब टीम मस्जिद में प्रवेश करने ही वाली थी। प्रवक्ता ने बताया कि बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड न्यूजीलैंड क्रिकेट प्राधिकारियों के संपर्क में है और विचार विमर्श के बाद आगे फैसला किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)