दिल्ली के करोल बाग स्थित होटल अर्पित पैलेस में लगी भीषण आग, अब तक 17 की मौत

0
21

नई दिल्ली: करोलबाग में एक होटल (Delhi Arpit Hotel Fire) में मंगलवार तड़के भीषण आग गई। आग की चपेट में आने से एक बच्चे सहित 17 लोगों की मौत हो गई, जबकि तीन गंभीर रूप से झुलसे हैं। वहीं, फायरकर्मियों ने अबतक करीब 35 लोगों को बाहर निकाल लिया है। हालांकि, अभी कुछ अन्य लोगों के फंसे होने की सूचना है। राहत व बचाव कार्य जारी है। आग लगने के पीछे के कारणों का अबतक कुछ पता नहीं चल पाया है। अब तक राममनोहर लोहिया अस्पताल में 17 मृतकों को लाया गया है। आरएमएल, लेडी हार्डिंग के अलावा कुछ घायल गंगाराम अस्पताल भी ले जाये गए हैं।
सुबह तड़के लगी आग
जानकारी के मुताबिक, करोलबाग के होटल अर्पित पैलेस में आग सुबह करीब साढ़े चार बजे लगी। गहरी नींद में सोए लोग इससे पहले कुछ समझ पाते, आग फैलती चली गई। इसके बाद लोगों में दहशत फैल गई। चीफ फायर ऑफिसर के मुताबिक 2 लोग बिल्डिंग से कूद पड़े। होटल में कुछ अन्य लोगों के फंसे होने की भी आशंका है। फायर ब्रिगेड रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी है। अग्निशमन विभाग के डिप्टी चीफ सुनील चौधरी ने बताया कि होटल अर्पित पैलेस में आग की चपेट में आने से 17 लोगों की मौत हो गई। हालांकि आग बुझा दी गई है।
छत से कूद कर जान बचाने की कोशिश
उधर, शवों को बाहर लाया जा रहा है। बचाव एवं राहत कार्य फिलहाल जारी है। अग्निशमन विभाग के अनुसार करोल बाग स्थित होटल अर्पित पैलेस में तड़के आग लग गई। सूचना मिलते ही 26 दमकल वाहन मौके पर पहुंचे और बचाव एवं राहत कार्य शुरू किया गया। एक वीडियो भी सामने आया है जिसमें एक आदमी छत से कूद कर जान बचाने की कोशिश कर रहा है। आग लगने की घटना उस समय हुई जब लोग गहरी नींद में सो रहे थे।
बताया जा रहा है कि होटल में 40 कमरे हैं। केरल से आए एक ही परिवार के 35 लोगों को बचाया गया है, जबकि कुछ गंभीर रूप से झुलसे है। माना जा रहा है कि आग शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी। केरल से आए एक ही परिवार के 10 लोग होटल अर्पित पैलेस में ठहरे थे। अग्निशमन विभाग के मुताबिक मरने वालों में एक बच्चा, एक महिला और 7 पुरुष शामिल हैं।
26 गाड़ियों ने आग पर पाया काबू
फायर ऑफिसर सुनील चौधरी ने बताया कि आग पर सुबह करीब 8 बजे तक काबू पा लिया गया था। इस हादसे में मारे गए लोगों के शव भी बाहर निकाल लिए गए हैं। करीब 30 लोगों को होटल से बाहर निकाल लिया गया है। होटल में आग सुबह साढ़े चार बजे के आसपास फैलनी शुरू हुई। यह आग कैसे फैली, अभी तक इसका पता नहीं चल पाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)