सक्सेस मंत्र : मुसीबत न बन जाए हर किसी को मित्र की सूची में शामिल करना

0
16

इंसान का स्वभाव होता है कि हर कोई उसकी तारीफ करे। इसमें कुछ गलत भी नहीं है। लेकिन, ये चाहत आपकी नेतृत्व क्षमता को प्रभावित कर सकती है। खासतौर से कार्यस्थल पर, तो इसके नुकसान भी सामने आ सकते हैं। बेशक सबसे बना कर रखना अच्छी बात है, लेकिन हर किसी को मित्र सूची में शामिल करना मुसीबत बन सकता है। खासकर तब, जब आप टीम का नेतृत्व कर रहे हों। अमेरिका के बेसबॉल खिलाड़ी जॉर्डन मोंटगोमेरी ने एक इंटरव्यू में अच्छे टीम लीडर के गुर बताए हैं।

मुश्किल होता है दोस्ती का तमगा हटाना
जॉर्डन मोंटगोमेरी ने कहा, ‘कार्यस्थल पर टीम के साथ दोस्ताना व्यवहार शुरुआत में सफलता की वजह बनता दिख सकता है, लेकिन धीरे-धीरे टीम की प्रस्तुति पर नकारात्मक असर सामने आते हैं, क्योंकि इसके बाद टीम के साथ ‘दोस्ती’ का तमगा हटाया नहीं जा सकता। कई बार किसी काम को लेकर टीम को चुनौती देना या किसी काम के लिए जिम्मेदार ठहराना कठिन हो जाता है। इसलिए लीडर का मतलब दोस्त होना नहीं, बल्कि दूसरों की क्षमता के अनुसार चुनौतियां देकर ऊंचाइयों तक पहुंचाना है।’

‘फ्रेंड जोन’ में जाना ठीक नहीं
जॉर्डन मोंटगोमेरी कहते हैं, ‘टीम के साथ दोस्ती रखना गलत नहीं है, लेकिन यह मुख्य मकसद नहीं हो सकता। हालांकि एक लीडर टीम के साथ अच्छा दोस्त नहीं हो सकता इसकी भी वजह नहीं है, लेकिन नेतृत्व के वक्त क्लियर रहना चाहिए। परफॉरमेंस सुधारने के मामले में इसके दीर्घकालिक लाभ दिखाई देंगे। अगर टीम के साथ ‘फ्रेंड जोन’ में जा रहे हैं, तो आपको दो परिवर्तन लाने होंगे।’

जिम्मेदारी लें 
मोंटगोमेरी बोले, ‘गलतियां होने पर टीम लीडर को जिम्मेदारी लेनी चाहिए। सबसे पहले यह स्वीकार करना होगा कि आप टीम के साथ ‘फ्रेंड जोन’ में हैं। इसलिए आपके अपने एक्शन और पसंद रहीं।’

स्पष्ट रुख रखें, नए मानक बनाएं 
मोंटगोमेरी ने कहा, ‘क्या अच्छा है इस हिसाब से नहीं, बल्कि क्या आगे बढ़ने में मददगार होगा, इस हिसाब से मानक तय करें। रुख को लेकर स्पष्ट और केंद्रित रहें। याद रखें कि टीम से क्या चाहते हैं? टीम से वह काम कराने में क्या बाधा है? क्या किया जा सकता है? आखिरी सवाल नए मानक तय करने में मददगार होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)