सारणा-वारणा में ज्ञानशाला प्रशिक्षक प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन

0
122

मुंबई। मुम्बई ज्ञानशाला की आँचलिक संयोजिका श्रीमती सुमनजी चपलोत के निर्देशन में मुंबई ज्ञानशाला की कार्यकारिणी टीम मुम्बई की आँचलिक संयोजिका सुमन जी चपलोत , विभागीय संयोजिका राजश्रीजी कच्छारा , विभागीय सह संयोजिका शीतल जी सांखला , मुम्बई ज्ञानशाला मिडिया से अनिताजी सिंयाल महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के महाड़ में सारणा – वारणा के लिए गए व वहा प्रशिक्षक प्रशिक्षण कार्यशाला का भी आयोजन किया। कार्यशाला के दो चरणों में आयोजित हुई । प्रथम सत्र में सर्वप्रथम नमस्कार महामन्त्र से शुरवात हुई व सुमन जी ने ज्ञानशाला को सुचारू रूप से कैसे चलाया जाए व स्थानीय सभा के दायित्वों की जानकारी दी ।
ज्ञानशाला की समिति का गठन किया, मुख्य प्रशिक्षक के पद के लिए उपासिका श्रीमती अश्मिता कमलेश जी गांधी की नियुक्ति की, साथ ही सभी प्रशिक्षक बहनों में उत्साह वर्धन करते हुए कहा कि इतना छोटा क्षेत्र जहा 13 तेरापंथी परिवार के साथ सभी संप्रदायों के कुल मिलाकर सिर्फ 30 परिवार रहते है व बिना कोई संप्रदाय के भेद सभी एकरूपता से सभी दायित्वों को बखूबी निभा रहे हैं यह सचमुच गौरव की बात है। ज्ञानशाला के लिए संयोजक के रूप में श्री मान बाबूलाल जी गांधी की नितुक्ति की गई । श्रीमती राजश्री जी ने परीक्षा विभाग से सम्बंधित जानकारी से अवगत करवाया व वार्षिक रिपोर्ट के फार्म भरने की जानकारी दी व शिशु संस्कार की पुस्तकों की जानकारी दी । श्रीमती शीतल जी सांखला ने त्याग कार्ड व बच्चो को खेलखेल में कैसे पढ़ाना चाहिए व आगामी प्रतियोगिताओ के बारे में बताया । श्रीमती अनिता जी सिंयाल ने पीडीऍफ़ कैसे बनाते है व कैसे मासिक रेपोर्टभेजते है वह जानकारी दी। दूसरे चरण में अभिभावक संगोष्टि का आयोजन हुआ व ज्ञानशाला के नन्हें ज्ञानार्थयो से मुलाकात की।अभिभावक संगोष्टि में ज्ञानशाला की प्रशिक्षक बहनो के साथ उपस्थित सभा को सुमन जी ने संबोधित किया व ज्ञानशाला आज की पीढ़ी के लिए क्यों जरूरी है , व कैसे अपने संस्कारो से हम अपनी भावी पीढ़ी को सुरक्षित रख सकते है तथा सभीसंप्रदायो की एकता को देखते हुए सभी की सराहना की ।
बच्चो की सामान्य ज्ञान की क्लास ली गयी। महाड़ ज्ञानशाला में 27 ज्ञानार्थी व 5 प्रशिक्षक बहने जागरूकता के साथ दायित्व निभा रही है । कार्यशाला में कोकण सभा के अध्यक्ष् श्री मान लादूलाल जी गांधी , तेरापंथी सभा महाड़ के अध्य्क्ष श्रीमान संतोष जी देरासरिया , ज्ञानशाला के नव नियुक्त संयोजक श्री मान बाबूलाल जी गांधी सभी ने मुंबई ज्ञानशाला की सराहना करते हुए आभार् ज्ञापन किया व् अपने विचार प्रस्तुत किये । कार्यशाला में भगवती लाल जी गांधी , कमलेश जी गांधी , उमेश जी गांधी , राजमल जी कोठारी , राजू कोठारी , नीलेश जी गाँधी , व ज्ञानशाला की बहने , महिला मण्डल समाज व 20 ज्ञानार्थी बच्चो की उपस्थिति रही ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)