देश का 36वा आचार्य तुलसी डायग्नोस्टिक सेंटर मानव सेवा को लोकार्पित

0
197

मुंबई। अभातेयुप द्वारा निर्देशित आचार्य तुलसी डायग्नोस्टिक सेंटर तेयुप शहादा द्वारा आज मानव सेवा को लोकार्पित किया गया। लोकार्पण समारोह में “शासनश्री” साध्वीश्री पदमावती जी ने अपने उद्बोधन में कहा कि अभातेयुप इस उपक्रम के माध्यम से मानव सेवा का बहुत बढ़िया काम कर रही है। साध्वीश्री गवेशनाश्रीजी ने कहा कि तेयुप शहादा अभातेयुप से निर्देशित सभी कार्य कर रही है और ATDC में भी तेयुप ने खूब श्रम किया। साध्वीश्री मेरुप्रभाजी ने सुंदर गीतिका प्रस्तुत की। साध्वीश्री मयंकप्रभा जी ने कहा कि में शहादा की बेटी हूँ और शहादा में तेयुप को इतना अच्छा कार्य करते हुए देख आत्मसंतोष है।
इस अवसर पर अभातेयुप राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री विमल कटारिया ने फोन पर दिए संदेश में कहा कि विशेष परिस्थितिवश नही आ पाने के लिए शहादा समाज से खमत खामना करता हूँ। उन्होंने कहा कि ATDC खुलने में साध्वीश्री की विशेष प्रेरणा रही। श्री कटारिया ने आगे कहा कि मेरा शरीर यहाँ है पर मेरा मन अभी शहादा में ही है। इस कार्य मे शहादा की सम्पूर्ण तेयुप ने श्रम नियोजित किया और विशेष कर तेयुप अध्यक्ष श्री सुमित गेलड़ा ने खूब श्रम किया इसके लिए में पूर्व में किये वादे के अनुसार सुमितजी को अभातेयुप की राष्ट्रीय टीम में लेने की घोषणा करता हूँ।
इस अवसर पर महासभा के पूर्व अध्यक्ष एवं ATDC के उद्घाटनकर्ता श्री हीरालाल मालू ने कहा कि दुसरो के लिए कार्य करने वाले व्यक्ति हमारे आदर्श होते है ऐसा ही एक बड़ा कार्य आज शहादावासी करने जा रहे है जिसका मुझे गौरव है। शहादा वासी सिर्फ खुद के लिए ही नही समाज के लिए भी जीते है।श्री मालू ने कहा स्थानीय लोगो ने किए हुए कार्य प्रेरणादाई है एवं इस कार्य से सभी को एक प्रेरणा मिलेगी अमीर होने से अच्छा है आदमी को उदार होना चाहिए। पैसा सब के पास होता है पर उसका विसर्जन जरूर होता है।वही व्यक्ति अमीर होता है जो समाज सेवा में अर्थ विसर्जन करता है।लोगो के विचार बदलना जरूरी है।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे अभातेयुप के महामंत्री ने कहा कि तेयुप शहादा बहुत अच्छा कार्य कर रही है।उन्होंने कहा कि इस कार्य मे श्रीमति शायरदेवी हीरालालजी मालू एवं श्री चंदनमलजी,राजेन्द्रजी,अभिनवजी बैद का सभी ATDC में अर्थ सहयोग मिल रहा है जिसके लिए में आपका आभार व्यक्त करता हूँ आगे उन्होंने ATDC की सम्पूर्ण कार्यशैली बारे में बताया। ATDC के मुख्य सहयोगी श्री लाभचंदजी गेलड़ा परिवार के श्री अजित गेलड़ा ने कहा कि आगे भी तेयुप ऐसा कोई मानव सेवा का कार्य हाथ मे लेगी तो हमारा परिवार सदैव साथ खड़ा रहेगा। नंदुरबार से संसद हीनाताई गावित नगराध्यक्ष मोतीलालजी पाटील, सातपुडा साखर कारखाना के चैयरमैन दीपकभाऊ पाटिल,जिला परिषद सदस्य अभिजीतजी पाटील महावीर पतसंस्था के चेयरमेन रमेश जैन तुलसी नगरी पतसंस्था के चैयरमेन डॉक्टर बी.डी.जैन, नगरसेवक संदीप पाटील,रवींद्र जमादार,नगरसेवक ज्ञानेश्‍वर चौधरी,जसराज संचेती ,डॉक्टर राजेश जैन,मनोज चोरडिया आदि गणमान्य व्यक्ति इस अवसर पर उपस्थित थे।
खासदार डॉ .हिनाताई गावित ने कहा कि छोटी आयु में ही संस्कार देना यह जैन धर्म की परम्परा है एवं इसी के माध्यम से मानव सेवा करने की इच्छा बचपन से ही प्रबल होती जाती है।शहादा शहर को सामाजिक सांस्कृतिक व धार्मिक गतिविधियों के लिए जाना जाता है।खासदार होने के नाते सरकार की ओर से जो भी कार्य होगा वह में करने का प्रयास करूँगी। बुंदबुन्द से घड़ा भरता है वैसे ही थोड़ी थोड़ी मदद से बड़े बड़े कार्य पार लग जाते है। नगराध्यक्ष  मोतीलाल पाटील इस अवसर पर बोले लोगो के मन का डायग्नोसिस होना जरूरी है  डायगणोसिस दो प्रकार के होते है एक मन का डायग्नोसिस एवं दुसरा शरीर का डायग्नोसिस। शहादा में जैन धार्मिक लोगो की और से चातुर्मास किया जाता है। इसी से मन का डायग्नोसिस होता है। इन संस्कारो की वजह से ही  आज डायग्नोस्टिक सेंटर का निर्माण शहादा शहर में हुआ है।सातपुडा कारखाना चैयरमैन दीपक पाटील इन्होंने इस अवसर पर कहा शहादा क्षेत्र त्याग की  भूमि है शहर के लोगो की समर्पण भावना हे अपने पास क्या है इस का विचार किये बिना देने की भावना रखते है एवं इसी भावना से आज आचार्य तुलसी डायग्नोस्टिक सेंटर का भव्य लोकार्पण होने जा रहा है।
ATDC के राष्ट्रीय सहप्रभारी श्री अभिषेक पोखरना ने कहा कि यह देश का 36वा ATDC है और सभी जगह सुव्यस्थित तरीके से संचालित हो रहा है। पोखरना ने आगे कहा कि सिर्फ ATDC खोलने से कुछ नही होता इसे सुव्यवस्थित तरीके से संचालित भी करना होता है जिसके लिए सम्पूर्ण समाज का सहयोग चाहिए होता है। तेयुप शहादा के प्रभारी श्री प्रमोद छाजेड़ ने कहा कि सुमितजी के नेतृत्व में तेयुप शहादा जबरदस्त कार्य कर रही है और शहादा से तो मेरा पारिवारिक संबंध हो गया है। संचालन श्रीमती स्मिता कुचेरिया ने किया एवं आभार श्री विनोद गेलड़ा ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)