भदोही : कोचिंग गया छात्र 20 दिन बाद भी नहीं लौटा घर,अपहरण की आशंका 

  • पुलिस ने सुरियावां रेलवे स्टेशन से छात्र की बरामद की है साईकिल
  • दादा ने पुलिस पर लगाया आरोप पुलिस गुमशुदगी दर्ज कर बैठी है चुप 

प्रभुनाथ शुक्ल/भदोही। कोचिंग गया छात्र तकरीबन 20 दिन बाद भी घर नहीं लौट पाया है। पुलिस संबंधित मामले में प्राथमिकी दर्ज कर चुपचाप बैठी है। गायब छात्र 12वीं कक्षा में पढ़ता है। परिजनों ने अपहरण की भी आशंका जतायी है। उन्हें आशंका है कि वह जहरखुरानी गिरोह के भी हाथ लग सकता है।
जनपद भदोही के सुरियावां थाना क्षेत्र के कौडर गांव निवासी संदीप सिंह का बेटा वैभव सिंह बारहवीं कक्षा का छात्र है। दादा शुभवंत सिंह के अनुसार वह 29 दिसंबर को घर से कोचिंग करने के लिए निकला था। लेकिन तकरीबन 20 दिन बीतने को आए हैं, लेकिन अभी तक घर वापस नहीं आ सका है। पुलिस ने उसकी साइकिल सुरियावां रेलवे स्टेशन से बरामद की है। परिजनों ने पुलिस को दी गई गुमशुदगी तहरीर में आशंका जताई थी कि वह अपने बुआ के पास लखनऊ जा सकता है लेकिन वहां भी वह नहीं गया है।
दादा शुभवंत सिंह रिटायर्ड कलेक्ट्रेट कर्मचारी हैं। उन्होंने आशंका जताई है कि उनका पोता जहरखुरानी गिरोह के हाथ भी लग सकता है या फिर उसका अपहरण भी हो सकता है। 20 दिन बीतने के बाद भी अभी तक पोते के न लौटने पर परिजन काफी परेशान हैं। संभावित स्थलों पर की तरफ से खोजबीन की जा चुकी है लेकिन अभी लापता छात्र नहीं मिल पाया है। जिसकी वजह से परिजनों की हालत दिन-ब-दिन बुरी हो रही है।
शुभवंत सिंह ने बातचीत में आरोप लगाया है कि पुलिस का रवैया संवेदनात्मक नहीं। इस मामले में पुलिस ने सिर्फ गुमशुदगी की प्राथमिकी दर्ज कर चुप बैठी है। अभी तक बच्चे को खोज नहीं पायी है। 20 दिन का वक्त गुजरने के बाद भी बच्चे के गायब होने का सुराग अभी तक पुलिस नहीं लगा पा रही है। दादा ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा है कि पुलिस कहती है कि अगर यह जांच आपको दे दी जाए तो आप क्या करेंगे। पुलिस के रवैया से पीड़ित परिवार बेहद क्षुब्ध है। इस मामले में उन्होंने पुलिस अधीक्षक भदोही डॉ अनिल कुमार से हस्तक्षेप करने की मांग की है।
सुरियावां थानाध्यक्ष राकेश सिंह से जब इस मामले में बात की गई तो उन्होंने कहा कि इस मामले में एफआईआर दर्ज कर की जा चुकी है। जांच अधिकारी इस मामले में जांच कर रहे हैं। छात्र की साइकिल भी सुरियावां रेलवे स्टेशन से बरामद की गई है। इससे साबित होता कि छात्र कहीं न कहीं ट्रेन से गया है।पुलिस ने अपहरण की आशंका से इनकार किया है। पुलिस प्राथमिकी दर्ज होने के बाद अपना काम कर रही है और इस मामले में त्वरित गति से लगी हुई है। पुलिस पर लगाए गए आरोप बेबुनियाद हैं। जल्द ही इस मामले का खुलासा कर लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *