यज्ञों के कारण यज्ञ पुरुष भगवान् जम्बूद्वीप में ही निवास करते हैंः ज्योतिषाचार्य पंडित अतुल शास्त्री

लखनऊ। भारत के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश और उसकी राजधानी लखनऊ में श्रीमद् भागवत कथा एवं रूद्रचंडी महाज्ञान यज्ञ” का आयोजन होगा। 16 जनवरी को सुबह विधि विधान के साथ कलश यात्रा शुरू होगी। कलश यात्रा के बाद इस कथा की विधिवत शुरुआत होगी और कथा का आयोजन 23 जनवरी तक होगा। कलश यात्रा 16 जनवरी को सुबह 9:00 बजे तो भंडारा 23 जनवरी 2023 को शाम 05:00 बजे से हरि इच्छा तक होगा। इस श्रीमद् भागवत कथा एवं रूद्रचंडी महायज्ञ को श्री मद भगवद फाउंडेशन और आप सभी के सहयोग से
किया जा रहा है।कार्यक्रम में कथावाचक कौशलेंद्र कृष्ण शास्त्री जी महाराज है।और यज्ञाचार्य ज्योतिषाचार्य पंडित अतुल शास्त्री होंगे सहयोगी पं.मदन मोहन मिश्रा,आचार्य हरिशंकर शुक्ला, पं.सूरज शुक्ला तथा संरक्षक महन्त राम उदय दास होंगे कथा का स्थान मनकामेश्वर शनि मन्दिर सुरेन्द्र नगर कमता चिनहट नजदीक नगर निगम डिग्री कॉलेज मंदिर प्रांगण के अंदर होगा।कथावाचक कौशलेन्द्र कृष्ण शास्त्री जी महाराज ने कहा कि कथा करने का मुख्य उद्देश्य युवा वर्ग को सही दशा और दिशा दिलाना है। क्योंकि आज अधिकांश युवा दिग्भ्रमित होकर नशे और व्यसन की चपेट में है। धर्म के प्रति मूल जानकारी नहीं मिल पा रही है और समाज को धर्म के प्रति सजग एवं सहज होने कि जरूरत है।ज्योतिषाचार्य पंडित अतुल शास्त्री ने बताया हैं कि जहां भागवत कथा होती है उसके आसपास के क्षेत्र के लोगों को भी पुण्य मिलता है। इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि जिस क्षेत्र में कथा होगी उसे कितना पुण्य मिलेगा। जहां पर श्रीमद् भागवत कथा का प्रसंग घटित होता है, उसे काफी सौभाग्यशाली माना जाता है। लोगों में सुविचार सुख समृद्धि शांति सभी कथा के माध्यम से प्राप्त होती है। ज्योतिषाचार्य पंडित अतुल शास्त्री ने लोगों को इस महाआयोजन में आमंत्रित करते हुए कहा कि इस कथा में श्रद्धालु पूरे लखनऊ से पहुंचकर कथा को श्रवण करें।सभी भगवत प्रेमी स्नेही महाजनों से निवेदन है कि इस अमृतमयी ज्ञानमयी भक्तिमयी कथा का लाभ लेने अवश्य पधारें। और आप सभी बढ़चढ़ कर इस आयोजन हिस्सा लें और तन मन धन का सहयोग देकर इस आयोजन को सफल बनाने और भक्ति रस में लीन हो जाए ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *